जामताड़ा में हाथी ने ली दंपत्ति की जान, गुस्साये लोगों ने रेंजर को बनाया बंधक

पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद रेंजर को लोगों के चंगुल से छुड़ाया

Jamtara News: मृतक दंपति सहित कुल 3 लोग शौच के लिए बांस की जंगल की ओर जा रहे थे. तभी हाथी ने उनपर हमला कर दिया और पति-पत्नी को कुचलकर मार डाला.

  • Share this:
    रिपोर्ट- सुमन भट्टाचार्य

    जामताड़ा. जिले के फतेहपुर थानाक्षेत्र के मालडीहा गांव में झुंड से बिछड़े हाथी ने दो लोगों को कुचलकर मार डाला. मृतक पति-पत्नी थे. घटना रविवार अहले लगभग 5 बजे की बताई जा रही है. जानकारी के अनुसार सुबह मृतक दंपति सहित कुल 3 लोग शौच के लिए घर से सटे बांस की जंगल की ओर जा रहे थे. तभी हाथी को देखकर एक व्यक्ति बांस की झाड़ी में छिप गया. वही पति- पत्नी घर की ओर भागने लगे. लेकिन हाथी ने उनपर हमला कर दिया और कुचलकर मार डाला.

    बताया जा रहा है कि यह हाथी कई दिनों से क्षेत्र में भटक रहा है. आज अहले सुबह करीब 5 बजे शौच के लिए निकले दंपत्ति को कुचल डाला. दरअसल पति, पत्नी समेत 3 लोग तालाब की तरफ शौच के लिए जा रहे थे. तभी तीनों ने हाथी को देखा. हाथी को देखते ही एक व्यक्ति पेड़ के पीछे जा छुपा. लेकिन पति- पत्नी अपने घर की तरफ भागने लगे. इनको भागता देख हाथी ने इनका पीछा किया और हमला कर दिया. जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गयी.

    मृतक का नाम जियालाल पांवरिया (52 वर्ष) और उनकी पत्नी सोनामुनी टूडू है. घटना की सूचना पर रेंजर प्रतिमा कुमारी, बीडीओ मुकेश बाउरी, थाना प्रभारी सुमन कुमार गांव पहुंचे. मौके पर ग्रामीणों का गुस्सा वन विभाग पर फूट पड़ा. ग्रामीणों ने घंटों रेंजर प्रतिमा कुमारी को घेर कर रखा. ग्रामीण इस बात पर अड़े हुए थे कि जब तक वन विभाग हाथी को नहीं भगाएगा, तब तक रेंजर को जाने नहीं देंगे. घंटों मशक्कत के बाद प्रशासन की सूझबूझ से रेंजर को हाथी खदेड़ने के बहाने ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया गया. और अधिकारी मौके से बचकर भाग निकले. इससे पूर्व रेंजर द्वारा दस हजार की सहायता राशि मृतक के पुत्र को दिया गया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.