झारखंड: जामताड़ा में मिट्टी का टीला धंसने से तीन महिलाओं की मौत

जहां उन्हें चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. अन्य महिलाओं की तलाश जारी है.  (सांकेतिक फोटो)
जहां उन्हें चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. अन्य महिलाओं की तलाश जारी है. (सांकेतिक फोटो)

जामताड़ा के उपायुक्त फैज अहमद मुमताज ने बताया कि देवलबाड़ी पंचायत स्थित मिरगापहाड़ी (Mirragapahari) में आसपास के गांवों की कुछ महिलाएं घर में पुताई के लिए मिट्टी की खुदाई कर रही थीं.

  • Share this:
जामताड़ा. झारखंड के जामताड़ा जिले (Jamtara District) के मिरगापहाड़ी (मंझलाडीह) में सोमवार को मिट्टी का टीला धंसने से उसमें दबकर तीन महिलाओं की मौत हो गई. वहीं, पांच अन्य महिलाओं के मिट्टी के ढेर में दबे होने की आशंका है. इन्हें बचाने के लिये राज्य आपदा मोचन बल को लगाया गया है. जामताड़ा के उपायुक्त फैज अहमद मुमताज ने बताया कि जिले के नारायणपुर प्रखंड (Narayanpur Block) के देवलबाड़ी पंचायत स्थित मिरगापहाड़ी (Mirragapahari) में आज आसपास के गांवों की कुछ महिलाएं घर में पुताई के लिए मिट्टी की खुदाई कर रही थीं. इस दौरान मिट्टी का टीला धंस गया, जिसके अंदर छह से आठ महिलाओं के दबे होने की खबर मिली हैं.

अन्य महिलाओं की तलाश जारी है
सूचना मिलते ही प्रशासन ने मौके पर जेसीबी मशीन भेजकर टीले की खुदाई करवाई जिसमें से तीन महिलाओं को जल्द ही बाहर निकाल लिया गया और उन्हें नजदीकी जामताड़ा सदर अस्पताल भेजा गया जहां उन्हें चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. अन्य महिलाओं की तलाश जारी है.

किशुनपुर गांव में मिट्टी खोदने के दौरान ढीला ढह गया था
बता दें कि बीते एक अक्टूबर को कुछ इसी तरह की खबर कानपुर जिले में सामने आई थी. कानपुर देहात में राजपुर थाना क्षेत्र स्थित किशुनपुर गांव में बीते गुरुवार को मिट्टी खोदने के दौरान ढीला ढह गया था. इससे मिट्टी में एक महिला व किशोरी दब गई. महिला की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि किशोरी ने हैलट में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था. घटना के बाद कई थानों का फोर्स लेकर एसडीएम भोगनीपुर मौके पर पहुंची थी.



उन्होंने पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया था
उन्होंने पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया था. साथ ही मुख्यमंत्री राहत कोष से मदद दिलाने का भरोसा दिया था. किशुनपुर गांव निवासी चौकीदार रामलखन की पत्नी महादेई (55) पड़ोसी संतराम की बेटी प्रियांशी (12) के साथ घर की मरम्मत के लिए मिट्टी लेने गईं थीं. दोनों कथरी मार्ग के पास जंगल में मिट्टी खोद रहीं थीं. इस बीच अचानक ढीला ढह गया. इससे दोनों मिट्टी के ढेर में दब गईं और उनकी मौत हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज