झारखंड: इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय बुंडू की 25 छात्राएं मिली कोरोना संक्रमित, प्रशासन के फूले हाथ-पांव

इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय में 25 छात्राएं एक साथ कोरोना संक्रमित मिली हैं.

इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय में 25 छात्राएं एक साथ कोरोना संक्रमित मिली हैं.

रांची (Ranchi) में बुंडू के इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय (Indira Gandhi Residential School) की 25 छात्राएं कोरोना संक्रमित निकलीं हैं. स्कूल की 24 % छात्राओं के Covid-19 पॉजिटिव निकलने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के हाथपाव फूल गये हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2021, 10:56 PM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड (Jharkhand) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) विकराल रूप लेता जा रहा है. वहीं रांची (Ranchi) कोरोना संक्रमण का केंद्र बन चुकी है.आज बुंडू के इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय (Indira Gandhi Residential School) की 96 छात्राओं की कोविड जांच की गई तो 25 छात्राएं कोरोना संक्रमित निकलीं. 24 % छात्राओं के Covid-19 पॉजिटिव निकलने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के हाथपाव फूल गये हैं. आनन-फानन में टीम भेजकर छात्राओं का इलाज शुरू किया गया है. वहीं प्रशासन सभी लोगों की कांट्रैक्ट हिस्ट्री खंगालने में जुट गया है.

इंदिरा गांधी आवासीय विद्यालय, बुंडू के 25 छात्राओं के कोरोना पॉजिटिव मिलने की पुष्टि करते हुए रांची के सिविल सर्जन डॉ वीबी प्रसाद ने कहा कि स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह चौकस है. उन्होंने बताया कि बुंडू के लिए विशेष टीम बना दी गई है. सभी छात्राओं को आइसोलेट कर उनके स्वास्थ्य की जांच की जा रही है और पर्याप्त मात्रा में दवा की किट भी उपलब्ध कराई गई है.

Gold Price Today: एक दिन में 780 रुपये तक बढ़े सोने के दाम, जानें क्‍या है झारखंड में आज का रेट

स्वास्थ्य सचिव ने सभी जिलों के डीसी को लिखी चिट्ठी


स्वास्थ्य सचिव के. के. सोन ने सभी जिलों के उपायुक्तों को पत्र लिखकर कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने, बचाव व रोकथाम हेतु होम आइसोलेशन प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए कहा है. विभागीय सचिव ने कहा कि कोविड- 19 के मरीजों के लिए जरूरत के अनुसार अधिसूचित अस्पतालों में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर का उपयोग सुनिश्चित किया जाए. मध्यम एवम गंभीर रूप से संक्रमित कोरोना के मरीजों को बेड मिल सके, इसके लिए जुलाई 2020 में जारी गाइडलाइन फॉर होम आइसोलेशन का पालन किया जाए, जिसके तहत बिना लक्षण वाले या असिम्टोमैजिक मरीजों को होम आइसोलेशन में रखकर उनके अनुश्रवण, चिकित्सीय परामर्श और दवा किट की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए.

सैंपल लेते समय रिपोर्ट देने की तिथि लिखकर दें



राज्य में हो रही कोरोना सैम्पल जांच में हर SRF ID की रिपोर्ट के साथ सैम्पल कलेक्शन की तिथि के साथ साथ रिपोर्ट की तिथि भी अनिवार्य रूप दर्ज होनी चाहिए. इससे कोरोना जांच कराने वाला व्यक्ति समय पर आकर अपनी रिपोट को ले सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज