झारखंड विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने बजट सत्र को अनिश्चितकाल के लिए किया स्थगित

झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने बजट सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है.

झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने बजट सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है.

झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने आज बजट सत्र को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया. उन्होंने बजट सत्र के सुचारु संचालन में पक्ष-विपक्ष के सभी सदस्यों, अधिकारियों, विधानसभा सचिवालय (Assembly Secretariat) के पदाधिकारियों-कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों समेत अन्य के प्रति आभार व्यक्त किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 10:25 PM IST
  • Share this:
रांची. झारखंड विधानसभा (Jharkhand Assembly) का बजट सत्र मंगलवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गया. विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने सदन की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने की घोषणा की. विधानसभा अध्यक्ष ने अपने समापन संबोधन में कहा कि बजट सत्र में चालू वित्तीय वर्ष का अनुपूरक बजट, आर्थिक सर्वेक्षण और अगले वित्तीय वर्ष का आम बजट पेश करने के साथ ही कुल दस विधेयक पेश किये गये, जिसमें नौ विधेयकों को मंजूरी प्रदान की गई और एक विधेयक को प्रवर समिति को सौंप दिया गया.

उन्होंने बजट सत्र के सुचारु संचालन में पक्ष-विपक्ष के सभी सदस्यों, अधिकारियों, विधानसभा सचिवालय के पदाधिकारियों-कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मियों समेत अन्य के प्रति आभार व्यक्त किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि भगवान ना करे कि झारखंड में लॉकडाउन की स्थितियां हों, इसलिए सजग रहने की जरूरत है. कोरोना के विकराल रूप की आहट सुनाई दे रही है.

'ना मंत्री ना अधिकारी, कोई नहीं सुनता', अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे JMM विधायक

इसी को देखते हुए पिछले दिनों प्रधानमंत्री ने अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीटिंग की थी. उस मीटिंग में पीएम को राज्य के हालात से अवगत कराया गया था. फिलहाल हालात ठीक नहीं हैं. कुछ दिन बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जाएगा. समापन भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2021 22 के बजट की खासियत गिनाई. उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में क्रय शक्ति बढ़ाने पर जोर रहेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में करीब 35% पद खाली हैं. अब तक यहां सरकारें जुगाड़ पर चलती रही, लेकिन हमारी सरकार लॉन्ग टर्म प्लान पर आगे बढ़ रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज