Home /News /jharkhand /

झारखंड: डीके तिवारी ने संभाली राज्य निर्वाचन आयोग की कमान, पदभार ग्रहण करते ही पंचायत चुनाव शीघ्र कराने के दिये संकेत

झारखंड: डीके तिवारी ने संभाली राज्य निर्वाचन आयोग की कमान, पदभार ग्रहण करते ही पंचायत चुनाव शीघ्र कराने के दिये संकेत

1986 बैच के IAS अधिकारी डी के तिवारी को झारखंड का निर्वाचन आयुक्त नियुक्त किया गया है.

1986 बैच के IAS अधिकारी डी के तिवारी को झारखंड का निर्वाचन आयुक्त नियुक्त किया गया है.

1986 बैच के IAS अधिकारी डी के तिवारी को झारखंड (Jharkhand) का निर्वाचन आयुक्त( ) नियुक्त किया गया है. तिवारी ने पदभार संभालते ही जल्द पंचायत चुनाव (Panchayat Election) कराने का संकेत दिया है.

रांची. झारखंड (Jharkhand) में नये निर्वाचन आयुक्त (Election Commissioner) की नियुक्ति हो गई है. कुशल प्रशासनिक अधिकारी (Administration Officer) के रूप में जाने जाने वाले देवेंद्र कुमार तिवारी यानी डी के तिवारी ने राज्य निर्वाचन आयोग की कमान संभाली है. राज्य निर्वाचन आयुक्त का पदभार ग्रहण करते हुए डी के तिवारी ने कहा कि उनकी प्राथमिकता राज्य में पंचायती राज व्यवस्था को सुदृढ़ करना है.

जिसके लिए राज्य सरकार से बातचीत कर जल्द ही त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू की जायेगी.पूर्व राज्य निर्वाचन आयुक्त एनएन पांडेय के जून 2020 में सेवाकाल समाप्त होने के बाद से राज्य निर्वाचन आयुक्त का पद खाली था. राज्य निर्वाचन आयुक्त का पद रिक्त होने के कारण राज्य में निकाय और पंचायत चुनाव भी समय से नहीं हो पाए. राज्य निर्वाचन आयुक्त का कार्यकाल तीन वर्ष या 64 वर्ष की उम्र तक होता है.

UP Panchayat Election 2021: मार्च के आखिरी हफ्ते में लग सकती है आचार संहिता

कौन हैं डीके तिवारी

डीके तिवारी एक कुशल प्रशासनिक अधिकारी के रूप में जाने जाते रहे हैं. 1986 बैच के IAS अधिकारी के रूप में कैरियर की शुरुआत करने वाले डी के तिवारी ने कई महत्वपूर्ण विभागों को संभालते हुए झारखंड के मुख्य सचिव के पद से इस वर्ष 31 मार्च को सेवानिवृत्त हुए थे. 1982 में किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज से MBBS की उपाधि प्राप्त करने के बाद डीके तिवारी 1986 में भारतीय प्रशासनिक सेवा में आए. 12 साल की सेवा के बाद 1998 में ब्रिटेन के मैनचेस्टर विश्वविद्यालय से विकास अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर की पढ़ाई करने चले गए.

इसके बाद रांची के छोटानागपुर लॉ कॉलेज से कानून में स्नातक किया. 1960 में उत्तर प्रदेश के महोबा में जन्मे डीके तिवारी को भारतीय प्रशासनिक सेवा में बिहार कैडर मिला. पहली पोस्टिंग पटना के मसौढ़ी में अनुमंडलाधिकारी के रूप में हुई. किशनगंज और छपरा आदि जिलों के जिलाधिकारी भी रहे. झारखंड में लंबे समय तक प्रशासनिक अधिकारी के रूप में काम करने के कारण यहां के आवोहवा को ये बखूबी जानते हैं. इनके पदभार ग्रहण करने के बाद जहां राज्य निर्वाचन आयोग में रौनक लौट आया है वहीं पंचायत चुनाव की सुगबुगाहट तेज होने लगी है.

Tags: Election commission, Politics, Ranchi news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर