Home /News /jharkhand /

झारखंड का घाघरा वॉटरफॉल: खूबसूरती में खो जाएंगे आप, पर्यटन स्थल बनाने की जोर पकड़ रही मांग

झारखंड का घाघरा वॉटरफॉल: खूबसूरती में खो जाएंगे आप, पर्यटन स्थल बनाने की जोर पकड़ रही मांग

प्रकृति ने झारखंड को कई नेमतों से नवाजा हैं. इन्हीं में से एक हैं घाघरा वॉटरफॉल.

प्रकृति ने झारखंड को कई नेमतों से नवाजा हैं. इन्हीं में से एक हैं घाघरा वॉटरफॉल.

Ghagra Waterfalls: केरेडारी प्रखंड मुख्यालय से आठ किलोमीटर की दूरी पर हेवई में स्थित घाघरा वॉटरफॉल अपनी खूबसूरती से सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है. यहां एक डैम भी है, जिसमें वॉटरफॉल के पानी को संग्रहित किया जाता है. लेकिन बुनियादी सुविधा के अभाव और प्रचार की कमी के कारण इस खूबसूरत वॉटरफॉल का दीदार करने से बाहर के लोग वंचित हो रहे हैं. घाघरा वॉटरफॉल तक जाने के लिए सही सड़क मार्ग की व्यवस्था नहीं है. ग्रामीण घाघरा वॉटरफॉल का विकास चाहते हैं और साथ इसे पर्यटक स्थल का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं. 

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट-जावेद खान
    हजारीबाग. अगर आप पेड़-पौधे, जंगल और पहाड़ को महसूस करना चाहते हैं तो एक बार झारखंड  (Jharkhand)  का सफर जरूर करें. प्रकृति ने झारखंड को कई नेमतों से नवाजा हैं. इन्हीं में से एक हैं घाघरा जल प्रपात यानि की घाघरा वॉटरफॉल  (Ghagra Waterfalls). केरेडारी प्रखंड मुख्यालय से आठ किलोमीटर की दूरी पर हेवई में स्थित घाघरा वॉटरफॉल अपनी खूबसूरती से सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करता है. यहां एक डैम भी है, जिसमें वॉटरफॉल के पानी को संग्रहित किया जाता है. लेकिन बुनियादी सुविधा के अभाव और प्रचार की कमी के कारण इस खूबसूरत वॉटरफॉल का दीदार करने से बाहर के लोग वंचित हो रहे हैं.

    दरअसल, घाघरा वॉटरफॉल तक जाने के लिए सही सड़क मार्ग की व्यवस्था नहीं है. ग्रामीण घाघरा वॉटरफॉल का विकास चाहते हैं और साथ इसे पर्यटक स्थल का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं. ऐसा होने से यहां अधिक पर्यटक आएंगे और फिर स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा. मालूम हो कि  घाघरा वॉटरफॉल में 70 फीट की ऊंचाई से पानी गिरता है. ऊंचे पहाड़ और हरियाली काफी मनोरम दृश्य उत्पन्न करते हैं.  लोग प्रकृति की इस छटा में आकर यहां खो जाते हैं.

    स्थानीय निवासी शेर सिंह बताते हैं कि किसी भी जनप्रतिनिधि ने घाघरा जलप्रपात को विकसित करने पर ध्यान नहीं दिया. अगर इस  वॉटरफॉल को पर्यटन स्थल का दर्जा मिल जाए तो यहां पर पूरे झारखंड समेत देश के लोग पहुंचेंगे. इसके जरिए स्थानीय लोगों को बड़ी आसानी से रोजगार उपलब्ध हो सकेगा.

    ग्रामीण अरविंद कुशवाहा कहते हैं कि घाघरा जलप्रपात पहुंचने का रास्ता ही सही नहीं है. अगर यहां पर बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर को विकसित करके इसका प्रचार -प्रसार किया जाए तो बड़ी संख्या में यहां पर्यटक आएंगे. घाघरा की खूबसूरती ही लोगों को लुभाती है, ऐसे में जनप्रतिनिधि और सरकार को घाघरा वॉटरफॉल के विकास के बारे में सोचना चाहिए.

    Tags: Jharkhand news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर