Home /News /jharkhand /

झारखंड के हजारीबाग में घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ जूनियर इंजीनियर, ठेकेदार से मांगे थे 70 हजार रुपये

झारखंड के हजारीबाग में घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार हुआ जूनियर इंजीनियर, ठेकेदार से मांगे थे 70 हजार रुपये

 भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने हजारीबाग के एक जूनियर इंजीनियर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने हजारीबाग के एक जूनियर इंजीनियर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है.

Jharkhand News: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने बुधवार को हजारीबाग के एक जूनियर इंजीनियर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि जूनियर इंजीनियर रामदेव पटेल 70 हजार रुपये की घूस के आरोप में पकड़े गए हैं. पटेल ने सिविल कोर्ट परिसर में अप्रोच रोड बनाने वाली कंपनी से अंतिम बिल को फाइनल करने के लिए एक लाख रुपए की मांग की थी. ठेकेदार सफिउल्लाह को बिल फाइनल कराने के लिए बार-बार चक्कर लगाना पड़ रहा था. बताया जा रहा है कि जेई से परेशान होकर सफिउल्लाह ने एसीबी एसपी के नाम आवेदन दिया था.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट- रितेश लोहानी
     हजारीबाग. झारखंड के हजारीबाग में भवन निर्माण विभाग के जूनियर इंजीनियर रामदेव पटेल  (Junior Engineer Ramdev Patel )70 हजार रुपये का घूस (Bribe) लेते हुए रंगे हाथों पकड़े गए. बीते बुधवार को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने रामदेव पटेल को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि जेई पटेल ने सिविल कोर्ट परिसर में अप्रोच रोड बनाने वाली कंपनी से अंतिम बिल को फाइनल करने के लिए एक लाख रुपए की मांग की थी. ठेकेदार सफीउल्लाह को बिल फाइनल कराने के लिए बार-बार चक्कर लगाना पड़ रहा था. बताया जा रहा है कि जेई से परेशान होकर सफीउल्लाह ने एसीबी एसपी के नाम आवेदन दिया.

    एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने भवन निर्माण विभाग, हजारीबाग के जेई रामदेव पटेल को सत्तर हजार रुपये लेते हुए हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. इस पूरे मामले पर आगे की कार्रवाई जारी है.एंटी करप्शन ब्यूरो के मुताबिक, हजारीबाग सिविल कोर्ट कैम्पस में मालखाना बिल्डिंग से गेट नंबर 1 और 3 तक अप्रोच रोड बनना था, जिसकी स्वीकृत राशि चालीस लाख नब्बे हजार पांच सौ रुपये थी. इस कार्य को निर्माण विभाग के संवेदक लाइफ एंड कंपनी ने समय पूरा कर लिया था और विभाग के अधिकारियों के द्वारा इसकी जांच भी की जा चुकी थी. इसी कार्य की अंतिम बिल को फाइनल करने के एवज में भवन निर्माण विभाग के जेई रामदेव पटेल ने एक लाख रुपये घूस के तौर पर मंगा था.

    ब्यूरो ने आगे बताया कि पैसों की मांग को लेकर कंपनी के सफीउल्लाह ने एंटी करप्शन ब्यूरो को आवेदन दिया था, जिसके बाद ब्यूरो की ट्रैप टीम ने आज जेई रामदेव भाई पटेल को सत्तर हजार रुपये लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

    जूनियर इंजीनियर पटेल गिरिडीह जिला के बगोदर थाना अंतर्गत आने मुंद्रा गांव के रहने वाले हैं. बताया जा रहा है कि रामदेव पटेल की गिरफ्तारी इंटरनेशनल नामक होटल से की गई है. लेकिन, फिलहाल बात की पुष्टि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने अपने प्रेस विज्ञप्ति में नहीं की है.

    Tags: Bribe news, Jharkhand news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर