होम /न्यूज /झारखंड /कांग्रेस के बाद बीजेपी ने भी आदिवासियों को रिझाने के लिए उछाला पत्थलगड़ी का मुद्दा

कांग्रेस के बाद बीजेपी ने भी आदिवासियों को रिझाने के लिए उछाला पत्थलगड़ी का मुद्दा

पत्थलगड़ी (फाइल फोटो)

पत्थलगड़ी (फाइल फोटो)

बुंडू में आयोजित सभा में अर्जुन मुंडा ने कहा कि देश हमारा है और इस देश के अंदर मुंडाओं का अपना देश है. मुंडा परंपरा और ...अधिक पढ़ें

    झारखंड की खूंटी सीट पर पत्थलगड़ी चुनावी मुद्दा बनकर उभरा है. कांग्रेस प्रत्याशी कालीचरण मुंडा के बाद बीजेपी प्रत्याशी व पूर्व सीएम अर्जुन मुंडा ने भी इसके जरिये आदिवासियों को रिझाने का प्रयास किया. गुरुवार को बुंडू में आयोजित सभा में अर्जुन मुंडा ने कहा कि देश हमारा है और इस देश के अंदर मुंडाओं का अपना देश है. मुंडा परंपरा और रीति- रिवाज अन्य जातियों से अलग है. उन्होंने पत्थलगड़ी को आदिवासियों का संवैधानिक अधिकार बताया.

    दरअसल खूंटी सीट पर कांग्रेस और बीजेपी पत्थलगड़ी को मुद्दा बनाकर चुनावी लाभ लेने की जुगत में हैं. दोनों दल मुंडाओं को अपने पाले में करने में जुटे हैं. खूंटी के अड़की एवं मुरहू प्रखंड के 80 से अधिक गांवों में लोगों ने संविधान विरोधी पत्थलगड़ी की थी. लेकिन सरकार की सख्ती के बाद इन्हें हटा देिया गया. लेकिन इनके पीछे के लोग अब चुनाव के वक्त फिर सक्रिय हो गये हैं.

    खूंटी के पत्थलगड़ी वाले गांवों में 50 हजार से अधिक मतदाता हैं. इन पर कांग्रेस उम्मीदवार कालीचरण मुंडा, ऐहरा नेशनल पार्टी के मुन्ना बड़ाइक और झारखंड पार्टी के अजय तोपनो की विशेष नजर है. इन्हीं तीनों के बीच इनके वोट बंटने की संभावना है. हालांकि बीजेपी अगर 20 से 25 फीसदी ये वोट हासिल कर लेती है, तो जीत की राह आसान हो जाएगी.

    गौरतलब है कि टिकट मिलने के बाद अर्जुन मुंडा ने पत्थलगड़ी को चुनावी मुद्दा बनाने से इनकार किया था. लेकिन अब वे भी इस मुद्दा को भुनाने में जुटे हैं.

    ये भी पढ़ें- जब PM मोदी यहां भाषण देते हैं, तो पाक में इमरान खान को आता है पसीना: CM योगी

    देश में कोई दूसरा नहीं, बल्कि मोदी ही चलेंगे- रघुवर दास

    आदिवासियों की जमीन लूट कर अंबानी-अडानी को देना चाहते हैं पीएम मोदी: राहुल गांधी

    टाटीसिल्वे की नुक्कड़ सभा में सीएम की अपील, सूबे में लानी है कमल क्रांति

    मोदी सरकार की नीति के चलते मजदूर के सामने भूखमरी की स्थिति- चंपई

     

    Tags: Jharkhand Lok Sabha Elections 2019, Khunti S27p11

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें