Home /News /jharkhand /

कोरोना के बाद रोजगार पर फोकस, 700 शिक्षकों की नियुक्ति जल्द- हेमंत सोरेन

कोरोना के बाद रोजगार पर फोकस, 700 शिक्षकों की नियुक्ति जल्द- हेमंत सोरेन

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन  ने झारखंड में 700 शिक्षकों की नियुक्ति जल्द करने का ऐलान किया.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंड में 700 शिक्षकों की नियुक्ति जल्द करने का ऐलान किया.

रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खूंटी और जमशेदपुर कल्याण गुरुकुल से प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं के बीच नियुक्ति पत्र वितरित किया. इस दौरान अपने संबोधन में सीएम ने कहा कि हम कोरोना बीमारी से उब चुके हैं और अब राज्य सरकार का फोकस रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाना है. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि झारखंड लोक सेवा आयोग के माध्यम से जहां कई पदों पर नियुक्ति परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं, वहीं निजी क्षेत्र में भी बड़े पैमाने रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि राज्य सरकार खिलाड़ियों को तैयार के उन्हें देश- विदेश भेजेगी. ॉमुख्यमंत्री ने प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को स्वरोजगार करने का भी सुझाव देते हुए सरकार की ओर से 25 लाख रुपये तक के लोन में सब्सिडी देने की भी घोषणा की.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज फिर से सुखद दिन का आगाज हो रहा है. सरकार प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार से जोड़ने में लगी है और युवाओं को तराश कर रोजगार के रास्ते खोलने में लगी है. उन्होंने कहा कि जिंदगी की नई राह पर चलने वाले युवाओं को शुभकामना. सरकार बनने के बाद कोविड संक्रमण से सामना हुआ. ऐसी आपदा गरीब राज्य और गरीबों के लिये पीड़ादायक रही. आपदा में भी राज्य सरकार ने लोगों को रोजगार दिया और साथ ही ग्रामीणों को स्वावलंबी बनाने की कोशिश भी की. इससे पहले 900 लड़कियों को नर्स की ट्रेनिग दी गई.

सीएम ने कहा कि अब नर्सिंग के क्षेत्र में पुरुषों को भी ट्रेंनिग की शुरुआत हो रही है. आज के दौर में पुरुष नर्स की भारी कमी है. सीएम ने कहा कि अब तक प्राझा फाउंडेशन के माध्यम से 15 हजार युवाओं को रोजगार मिल चुका है. 1 हजार के करीब दूसरे देश में युवाओं को रोजगार मिला है. खेल के क्षेत्र में राज्य सरकार युवाओं को आगे बढ़ा रही है. सीधी नियुक्ति के तहत 100 खिलाड़ियों को नियुक्ति होगी. बहुत जल्द करीब 700 शिक्षकों की बहाली होगी. कुछ तत्व व्यवधान डालने का काम कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि खुद का कुछ रोजगार करना चाहते हैं तो राज्य सरकार के लोन का लाभ ले सकते है. 25 लाख रुपये तक के लोन का प्रावधान किया जा रहा है. सीएम ने कहा कि प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं को स्वरोजगार करने का भी सुझाव देते हुए कहा कि सरकार की ओर से 25 लाख रुपये तक के लोन में सब्सिडी दी जाएगी.

बता दें कि राज्य सरकार के एसपीवी (स्पेशल पर्पस व्हीकल) प्रेझा फाउंडेशन से इन युवाओं को निर्माण और इलेक्ट्रिशियन व्यापार में तीन महीने का प्रशिक्षण खूंटी और जमशेदपुर कल्याण गुरुकुल सेंटर में मिला है. प्रशिक्षण के बाद इन्हें औसत 15,675 रुपये सीटीसी के साथ शापूरजी पालोनजी, ऑटोमिटिव एक्सेल और विलास जावड़ेकर जैसी कंपनियों में नौकरी मिली है.

गौरतलब है कि राज्य में नौ कौशल कॉलेज तथा 28 कल्याण गुरुकुल ट्रेनिंग सेंटर संचालित हैं, जिनके जरिए अबतक 15 हजार युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ा गया है. इनमें 70 प्रतिशत युवा अनुसूचित जाति और जनजाति के हैं.

Tags: CM Hemant Soren, Jamshedpur news, Jharkhand news, Khunti district, Ranchi news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर