लाइव टीवी

खूंटी गैंगरेप केस: घटनास्थल से सटे इलाके में CRPF की बढ़ी गश्ती, जेवीएम ने की सीबीआई जांच की मांग

News18 Jharkhand
Updated: June 25, 2018, 7:38 PM IST
खूंटी गैंगरेप केस: घटनास्थल से सटे इलाके में CRPF की बढ़ी गश्ती, जेवीएम ने की सीबीआई जांच की मांग
सीआरपीएफ की गश्ती

कोचांग के ग्राम प्रधान ने कैमरे पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया, लेकिन बातचीत न्यूज-18 को बताया कि पुलिस को घटनास्थल पर आकर जांच करनी चाहिए.

  • Share this:
खूंटी में पांच युवतियों से गैंगरेप मामले की जांच के लिये पुलिस ने अभियान तेज कर दिया है. घटनास्थल के आस-पास के क्षेत्रों में सीआरपीएफ की गश्ती धीरे-धीरे बढ़ाई जा रही है. हालांकि पत्थलगड़ी समर्थकों, पीएलएफआई और नक्सलियों का इलाका होने के चलते पुलिस फूंक-फूंक कर कदम उठा रही है.

घटनास्थल कोचांग गांव का इलाका पत्थलगड़ी समर्थकों, पीएलएफआई और माओवादियों का गढ़ है. वहीं अगर अड़की के बिरबांकी के रास्ते से पुलिस घुसती है तो कोचांग जाने में रास्ते में दो बड़े पत्थलगड़ी नेता जॉन जुनास और बलराम तीड़ू का गांव पड़ता है. यहां एक बार पहले भी पुलिस बंधक बन चुकी है. लिहाजा अभी तक पुलिस घटनास्थल तक नहीं पहुंच पाई है.

कोचांग के ग्राम प्रधान ने कैमरे पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया, लेकिन बातचीत न्यूज-18 को बताया कि पुलिस को घटनास्थल पर आकर जांच करनी चाहिए. पत्थलगड़ी समर्थक पुलिस के खिलाफ नहीं हैं. पत्थलगड़ी को गलत बताकर निर्दोष लोग की गिरफ्तारी के वे विरोधी हैं.

जेएमएम विधायक पौलुस सुरीन ने दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार फादर अल्फांसो का बचाव करते हुए सरकार पर हमला किया. कहा कि सरकार ईसाई विरोधी है. उन्होंने पुलिस की घटनास्थल तक पहुंचकर जांच नहीं करने पर भी सवाल खड़ा किया. जेवीएम के केन्द्रीय महासचिव बंधु तिर्की ने कहा कि झारखंड पुलिस के लिए कोचांग की घटना की सही जांच कर दोषियों को सजा दिलाना संभव नहीं है. इसलिए पूरे मामले को सरकार सीबीआई को सौंप देना चाहिए.

(अरविंद और उपेन्द्र कुमार की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें- खूंटी गैंगरेप केस: डीजीपी की बैठक, आरोपी जॉर्ज जोनास ने कहा- पत्थलगड़ी समर्थकों का हाथ नहीं

रामगढ़: घरेलू विवाद में पत्नी-बेटी की हत्या कर शख्स ने की खुदकुशी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खूंटी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 25, 2018, 6:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...