पत्थलगड़ी के लिए बदनाम खूंटी में उकेरी जा रही 'भविष्य की नई तस्वीर'

अतिनक्सल प्रभावित जिले में शुमार खूंटी अब विकास की नई तस्वीर उकेरने को आतुर है.

अतिनक्सल प्रभावित जिले में शुमार खूंटी अब विकास की नई तस्वीर उकेरने को आतुर है.

Khunti News: जिले में कभी जिन सरकारी स्कूलों में गांव के लोग अपने बच्चों को भेजने से रोकते थे, आज उन्हीं सरकारी स्कूलों की दीवार पर कोरोना संक्रमण से बच्चों के बचाव को लेकर तस्वीरें उकेरी जा रही हैं. ये बदलाव दिल को ही नहीं आंखों को भी सुकून देने वाली है.

  • Share this:

खूंटी. देश और झारखंड के मानचित्र पर अतिनक्सल प्रभावित जिला खूंटी समय के साथ बदल रहा है. कभी खूंटी के गांव में संविधान की गलत व्याख्या की अनगिनत तस्वीरें मौजूद थीं, मगर अब ये तमाम तस्वीरें धुंधली पड़ने लगी हैं. कुछ साल पहले तक खूंटी के ग्रामीण इलाकों में पत्थलगड़ी (Pathalgadi) अभियान को कोई कैसे भूल सकता है. गांव के बाहर पत्थलगड़ी अभियान के साथ-साथ सरकार की तमाम योजनाओं का बहिष्कार और सरकार के खिलाफ समानांतर व्यवस्था ने तब की रघुवर दास सरकार को हिला कर रख दिया था. लेकिन आज उसी खूंटी का मिजाज बदल रहा है.

जिले में कभी जिन सरकारी स्कूलों में गांव के लोग अपने बच्चों को भेजने से रोकते थे, आज उन्हीं सरकारी स्कूलों की दीवार पर कोरोना संक्रमण से बच्चों के बचाव को लेकर तस्वीरें उकेरी जा रही हैं. बीते सालों में क्या हुआ इसे भूलकर वर्तमान का ये बदलाव दिल को ही नहीं आंखों को भी सुकून देने वाली है.

देश और दुनिया कोरोना संक्रमण के दो वेब को लड़ते हुए तीसरे वेब के लिये खुद को तैयार कर रही है. जानकारों की माने तो कोरोना संक्रमण का तीसरी लहर बच्चों के लिये घातक साबित हो सकती है. ऐसे में सरकारों की कोशिश बच्चों को सुरक्षित रखने के साथ-साथ उनके भविष्य को निखारने को लेकर भी है. यही वजह है कि अब झारखंड के सुदूर ग्रामीण इलाकों के सरकारी स्कूलों में दीवार लेखन और पेंटिंग अभियान चलाया जा रहा है. इन दीवारों पर आपको कोरोना संक्रमण से बचाव से संबंधित स्लोगन और पेंटिंग देखने को मिल जाएंगे. बस या दूसरे वाहन से स्कूल आने, स्कूल के अंदर परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने, मास्क पहने रहने, मास्क को घर जाकर धोने और समय-समय पर हाथ धोते रहने संबंधित तस्वीर को रंग और कूची के माध्यम से स्कूलों की दीवारों पर उकेरा गया है.

सरकार के इस निर्णय से स्कूली बच्चों को कोरोना संक्रमण से दूर रखने के साथ- साथ कई युवा कलाकारों को रोजगार के अवसर भी प्रदान हो रहा है. उम्मीद है कि जब कभी भी सरकार स्कूल खोलने का निर्णय लेगी, स्कूल आने वाले तमाम बच्चों को इन तस्वीरों से सिख जरूर मिलेगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज