लाइव टीवी

सरकारी स्कूलों में होगी 'केजी' की पढ़ाई

Shailendra | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: April 12, 2017, 12:42 PM IST
सरकारी स्कूलों में होगी 'केजी' की पढ़ाई
शुरू होगी 'केजी' की पढ़ाई, 17 हजार बच्चों को जोड़ने का लक्ष्य

झारखंड के खूंटी जिले के सरकारी स्कूलों में अब 'केजी' यानी (प्राइमेरी एजुकेशन) की पढ़ाई भी होंगी. इसमें पूरे जिले से करीब 17 हजार बच्चों को स्कूल से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

  • Share this:
झारखंड के खूंटी जिले के सरकारी स्कूलों में अब 'केजी' यानी किंडर गार्डन की भी पढ़ाई होंगी. इसके तहत जिले में करीब 17 हजार बच्चों को स्कूल से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

हालांकि, स्कूलों की हालत बहुत खराब है. ऐसे में संभव है कि इन स्कूलों में कोई अभिभावक अपने बच्चे का नामांकन कराने ही ना पहुंचे.

जिला शिक्षा अधीक्षक सुरेश चंद्र घोष ने बताया कि शिक्षा विभाग की नई पहल से सरकारी स्कूलों में अब प्राइमेरी एजुकेशन की भी पढ़ाई होगी. बीते मंगलवार यानी 10 अप्रैल से शुरू हुए 'स्कूल चले चलाएं अभियान' में इस बार केजी की कक्षाओं के लिए भी नामांकन होगा.

उन्होंने कहा कि अभी खूंटी में 'केजी' की कक्षाओं में करीब 17 हजार बच्चों का नामंकन होगा. इस साल अभियान में करीब 30 हजार बच्चों को स्कूलों से जोड़ने की योजना है.

स्कूलों की स्थिति चिंताजनक

खूंटी राजकीय मध्य विद्यालय की महिला शिक्षक रीता झा की मानें तो स्कूलों की स्थिति बेहद चिंताजनक है. खास तौर पर स्कूलों में पेयजल, शौचालय और मिड डे मील को लेकर परेशानी है.

खूंटी थाना के सामने स्थित स्कूल के छात्र पानी के लिए टैंकर पर निर्भर है. मिड डे मील का खाना नाली के पास बनाने की व्यवस्था है, तो दूसरी तरफ स्कूल में बने शौचालयों पर ताले लटके हुए हैं.इधर, ब्लॉक कॉलोनी स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय की प्रिंसिपल मेरी सांगा को पूरी उम्मीद है कि बच्चों का एडमिशन प्राइमरी स्कूल में होगा, क्योंकि यहां पढ़ाई के लिए पैसे नहीं लगते और पढ़ने का माहौल काफी अच्छा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खूंटी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 12, 2017, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर