लाइव टीवी
Elec-widget

झारखंड में दस हजार लोगों पर राजद्रोह, राहुल गांधी बोले-कोई सरकार ऐसा कैसे कर सकती है

News18Hindi
Updated: November 20, 2019, 5:59 PM IST
झारखंड में दस हजार लोगों पर राजद्रोह, राहुल गांधी बोले-कोई सरकार ऐसा कैसे कर सकती है
राहुल गांधी ने झारखंंड की रघुवर प्रसाद सरकार पर ट्ववीट कर निशाना साधा. photo:PTI

झारखंड के खूंटी (Khunti) जिले में जून 2017 से जुलाई 2018 के बीच 10 हजार से ज्यादा लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने झारखंड सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि कोई सरकार कैसे 10 हजार लोगों पर राजद्रोह (Sedition) का ऐसा कठोर केस लाद सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2019, 5:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. झारखंड (Jharkhand) में दस हजार लोगों के खिलाफ राजद्रोह (Sedition) का केस लगा दिया गया. इस पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने झारखंड सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि कोई सरकार कैसे 10 हजार लोगों पर राजद्रोह (Sedition) का ऐसा कठोर केस लाद सकती है. राहुल गांधी ने कहा, 'वे लोग सरकार की नीतियों का विरोध कर रहे थे. एक देश के तौर पर ये हमारे लिए ये चिंता बढ़ाने वाला है. इस पर सभी लोगों को अपनी आवाज बुलंद करनी चाहिए.'

बता दें कि एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, झारखंड के खूंटी (Khunti) जिले में जून 2017 से जुलाई 2018 के बीच 10 हजार से ज्यादा लोगों पर राजद्रोह का केस दर्ज किया गया. ये मामला खूंटी जिले के पत्थलगढ़ी मूवमेंट से जुड़ा है. ये मूवमेंट 2017 में यहां पर शुरू हुआ था. अब यहां के गांवों में रहने वाले लोग विधानसभा चुनावों के बहिष्कार की बात कर रहे हैं. आंदोलन की शुरुआत 2017 में हुई. पत्थलगढ़ी, आदिवासियों की पुरानी परंपरा है. पहले आदिवासी इसका उपयोग अवांछित लोगों को गांव के अंदर घुसने से रोकने के लिए किया करते थे लेकिन बीते कुछ सालों से इसमें काफी तेजी आई है. इसके तहत से गांव का सीमांकन किया जाता है और पत्थर पर लिखकर बाहरी लोगों के प्रवेश को वर्जित बताया जाता है. इस क्षेत्र में आदिवासियों को भारतीय संविधान की पांचवीं अनुसूची के तहत विशेष स्वायत्तता दी गई है. यहां पर चले एक मूवमेंट के बाद पुलिस ने 10 हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए.



झारखंड में विधानसभा चुनाव 5 चरणों में होने वाले हैं. पहला चरण 30 नवंबर को है. यहां पर बीजेपी का मुकाबला कांग्रेस, आरजेडी और जेएमएम के महागठबंधन से है. बीजेपी का आजसू से गठबंधन टूट गया है. वहीं कभी बीजेपी में रहे पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी इस बार अलग चुनाव लड़ रहे हैं. जेडीयू और एलजेपी भी झारखंड में अलग से मैदान में हैं. इन चुनावों में बीजेपी के सामने अपनी सरकार बचाने की चुनौती है.

यह भी पढ़ें : 

टूट की कगार पर शिवसेना! कांग्रेस-NCP के साथ से 17 MLA नाराज
JNU के छात्रों पर पुलिस के कथित बल प्रयोग समेत लोकसभा में उठे ये मुद्दे
Loading...

मामला खत्म हो चुका, कांग्रेस पूछती रहे सवाल: SPG सुरक्षा हटाने पर सरकारी सूत्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खूंटी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 5:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...