लाइव टीवी

बेमौसम बारिश से तबाह हुए झारखंड के किसान, दस हजार हेक्टेयर में खड़ी फसल बर्बाद

Upendra Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: April 11, 2015, 11:28 AM IST
बेमौसम बारिश से तबाह हुए झारखंड के किसान, दस हजार हेक्टेयर में खड़ी फसल बर्बाद
झारखंड में हो रही बेमौसम की बरसात ने किसानों के चेहरे पर परेशानी की लकीरें खींच दी हैं. राज्य के छह जिलों में खेतों में खड़ी करीब दस हजार हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गई हैं और कृषि विभाग अभी भी क्षति का आंकलन करने में लगा हैं.

झारखंड में हो रही बेमौसम की बरसात ने किसानों के चेहरे पर परेशानी की लकीरें खींच दी हैं. राज्य के छह जिलों में खेतों में खड़ी करीब दस हजार हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गई हैं और कृषि विभाग अभी भी क्षति का आंकलन करने में लगा हैं.

  • Share this:
झारखंड में हो रही बेमौसम की बरसात ने किसानों के चेहरे पर परेशानी की लकीरें खींच दी हैं. राज्य के छह जिलों में खेतों में खड़ी करीब दस हजार हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गई हैं और कृषि विभाग अभी भी क्षति का आंकलन करने में लगा हैं.

झारखंड के कई इलाकों में पिछले सात दिनों से रुक-रुककर तेज हवा के साथ हो रही बारिश ने लोगों को वैशाख महीने की गर्मी से भले ही थोड़ी राहत दे दी हो पर आसमान से गिरती बूंदों ने किसानों के होश पाख्ता कर दिए हैं.

तेज हवा के साथ बारिश के चलते जहां प्याज और गेहूं की फसलें खेत में ही गिर गई हैं वहीं टमाटर, आलू, आम, तेलहन और दलहन की फसलें बर्बाद हो गई हैं. अच्छी बात यह है कि झारखंड के किसान खेतों में हुई बर्बादी से परेशान तो हैं पर हताश नहीं, किसान अपने घाटे की भरपाई के लिए सब्जी-गरमा धान लगाने की सोच रहे हैं.

कृषि विभाग के आंकड़ों की बात करें तो सूबे में गेहूं, मक्का, सब्जी, दलहन और आम की फसल को जबर्दस्त नुकसान हुआ है. अभी तक के आंकड़ों के अनुसार सबसे ज्यादा क्षति पाकुड़, गोड्डा, गिरिडीह, लातेहार, खूंटी और रांची में हुई है.

बारिश से कहां कितना हुआ नुकसान?

-गोड्डा में गेहूं की 2277 हेक्टेयर फसल बर्बाद, 1690 हेक्टेयर में लगी सरसों बर्बाद
-पाकुड़ में दलहन की 1587 हेक्टेयर में लगी बर्बाद-गोड्डा में चना की 1467 हेक्टेयर में लगी फसल बर्बाद
-खूंटी, रांची, लातेहार में करीब 200 हेक्टेयर में लगी सब्जी बर्बाद
-पाकुड़ में ही 1025 एकड़ में लगी सब्जी हो गई बर्बाद

आंकड़े बताते हैं कि सूबे के किसानों की मेहनत पर बेमौसम बरसात ने पानी फेर दिया है. इसके बावजूद सरकार की ओर से कोई भी राहत किसानों तक नहीं पहुंची हैं. कृषि विभाग एक ओर जहां इसे आपदा विभाग का मामला बताकर पल्ला झाड़ रहा है तो दूसरी ओर केसीसी वाले किसानों को फसल बीमा कंपनी से मुआवजा मिलने की संभावना जता रहा है।

देश के अन्य हिस्सों की तरह झारखंड में भी बारिश ने किसानों को बर्बादी की दोराहे पर खड़ा कर दिया है. हैरत की बात यह कि झारखंड के छोटे-छोटे भूखंडों पर खेती करने वाले किसानों की अभी तक किसी ने सुध नहीं ली है. उम्मीद की जानी चाहिए कि अब सरकार किसानों के प्रति जगेगी और इन किसानों को सहायता मिलेगी.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए खूंटी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 8, 2015, 9:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर