अपना शहर चुनें

States

लालू यादव के जेल मैनुअल उल्लंघन मामले की सुनवाई आज, जानें क्या है मामला?

जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई आज. (फाइल फोटो)
जेल मैनुअल उल्लंघन मामले में झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई आज. (फाइल फोटो)

झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) में इस मामले की सुनवाई होगी कि रिम्स के केली बंगले और पेइंग वार्ड में इलाज के दौरान लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) किन-किन लोगों से मिले. क्या ये लोग लालू प्रसाद यादव से मिल सकते थे या नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2020, 9:40 AM IST
  • Share this:
रांची. चारा घोटाला (Fodder Scam) मामले में जेल में बंद राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के जेल मैनुअल (Jail Manual) के उल्लंघन में मामले में आज झारखंड हाईकोर्ट (Jharkhand High Court) में सुनवाई होनी है. पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सरकार से इस मामले में जवाब दाखिल करने को कहा था. आज की सुनवाई में अब देखना होगा कि सरकार की ओर से दाखिल जवाब को देखने के बाद कोर्ट क्या आदेश जारी करता है.

बता दें कि झारखंड हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई होगी कि रिम्स के केली बंगले और पेइंग वार्ड में इलाज के दौरान लालू प्रसाद किन-किन लोगों से मिले. क्या ये लोग लालू प्रसाद यादव से मिल सकते थे या नहीं. क्या इस दौरान जेल मैनुअल का उल्लंघन हुआ है या नहीं. बता दें कि भारतीय जनता पार्टी और मीडिया की ओर से कई बार आरोप लगाया गया है कि लालू यादव रिम्स में भर्ती जरूर हैं लेकिन वह लगातार जेल मैनुअल का उल्लंघन कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :- RIMS शिफ्ट किए जाने के बाद लालू यादव से मिले तीन नेता, बंगाल फतह करने का दिया 'गुरुमंत्र'
लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान सीबीआई ने भी इस मामले को कोर्ट के सामने रखा था. इसके बाद कोर्ट ने इस पूरे मामले पर राज्य सरकार से जवाब मांगा था. इससे पहले राज्य सरकार की ओर से दिए गए जवाब पर कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए पुनः विस्तृत और बिन्दुवार जवाब पेश करने को कहा था. इस मामले में अब राज्य सरकार की ओर से कोर्ट में जवाब दाखिल कर दिया गया है.



इसे भी पढ़ें :- लालू यादव को जमानत दिलाने अब चिराग की LJP ने उठाई आवाज, कहा- मानवाधिकार आयोग ले संज्ञान

सीबीआई ने उठाया था मामला
उल्लेखनीय है कि 950 करोड़ रुपये के चारा घोटाले से संबंधित चार विभिन्न मामलों में 14 वर्ष तक कैद की सजा पाने के बाद न्यायिक हिरासत में रिम्स में इलाजरत लालू यादव की जमानत याचिका पर उच्च न्यायालय में बहस के दौरान 27 नवंबर को सीबीआई ने यह मामला उठाया था और अदालत को बताया था कि लालू रिम्स में मिली इलाज की सुविधा का दुरुपयोग कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज