यहां दो कमरे में पढ़ते हैं 200 बच्चे, क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चे बैठते हैं एक साथ

बीइओ ने कहा की स्कूल भवन के लिए राशि उपलब्ध हो गई है, जल्दी ही निर्माण कार्य करवाया जायेगा.

Vikas Kumar | News18 Jharkhand
Updated: August 12, 2018, 7:22 PM IST
यहां दो कमरे में पढ़ते हैं 200 बच्चे, क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चे बैठते हैं एक साथ
क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चे एक साथ पढ़ाई करते हुए
Vikas Kumar | News18 Jharkhand
Updated: August 12, 2018, 7:22 PM IST
एक ओर जहां सरकार उच्च शिक्षा को लेकर राज्य भर में करोड़ों रुपये खर्च कर रही है. वहीं लातेहार में एक स्कूल ऐसा भी है जहां दो कमरे में ही क्लास एक से लेकर आठ तक के लगभग 200 बच्चे पढ़ने को विवस हैं.

राज्य सरकार राज्य के स्कूलों में बच्चों को उच्च शिक्षा देने के लिए कई सुविधाएं दे रही है. सरकार ने स्कूल में ड्रेस, साईकल, मध्यान भोजन, दूध, मेडिकल सुविधा, लाइब्रेरी जैसी कई सुविधा स्कूल में दे रही है. वहीं दूसरी ओर लातेहार के बरवाडीह प्रखंड के बरखेता स्कूल का हाल दयनीय है. क्लास एक से आठ तक के लगभग 200 बच्चों के पढ़ने के लिए यहां मात्र दो ही कमरे हैं. बात यहीं पर नहीं रुकती उसी कमरे में स्कूल का स्टोर और ऑफिस भी है.

इस स्कूल को देखने के बाद ऐसा लगता है जैसे सरकार की सारी सुविधा बस कहने को है. वहीं मुख्य मार्ग से स्कूल का जुड़ा होना और स्कूल में खेल मैदान नहीं होने के कारण बच्चे सड़क पर ही खेलने को मजबूर रहते हैं. जिसके कारण वाहन की चपेट में आने का भी भय बना रहता है.

स्कूल में पढ़ा रहे शिक्षकों की माने तो उन्हें भी काफी असहजता महसूस होती है. एक ही क्लास रूम में अलग-अलग वर्ग के बच्चों को बिठाया जाता है. जिससे जब क्लास आठ के बच्चों को पढ़ाया जाता है तो उसी पाठ्यक्रम को क्लास पांच और छह के बच्चे भी पढ़ते हैं जिनसे उन्हे काफी परेशानी होती है.

शिक्षकों का कहना है कि यदि सरकसर पहल कर के स्कूल में क्लास रूम का निर्माण करवा देगी तो यहां के बच्चों को इससे काफी फायदा पहुंचेगा. वहीं इस संबंध में बरवाडीह के बीइओ ने कहा की स्कूल भवन के लिए राशि उपलब्ध हो गई है, जल्दी ही निर्माण कार्य करवाया जायेगा.

सरकार ने तो क्लास रूम बनाने को लेकर पैसे विभाग को दे दिए हैं परंतु देखना यह होगा की कब तक क्लासरूम बनकर तैयार होगा और बच्चे अलग-अलग क्लास में पढ़ाई करे पाएंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर