vidhan sabha election 2017

सरयू में सीआरपीएफ की वजह से लोग बजा रहे चैन की बंशी

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 8, 2017, 8:26 AM IST
सरयू में सीआरपीएफ की वजह से लोग बजा रहे चैन की बंशी
गांव वालों को खाना परोसते सीआरपीएफ के जवान फोटो- ईटीवी
ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 8, 2017, 8:26 AM IST
झारखंड के घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्र सरयू जहां कभी माओवादियों का गढ़ मना जाता था, जहां नक्सलियों की हुकूमत चलती थी वहां आज सीआरपीएफ की वजह से लोग अमन चैन की बंसी बजा रहे हैं.

सीआरपीएफ नक्सलियों से लड़ने के साथ सामाजिक कार्यों में भी लगी हुई है. लोगों की हमदर्द बनने के लिए और उनकी मदद के लिए लगातार प्रयासरत रहती है.

इसी क्रम में सिविक एक्शन प्रोग्राम चला कर मुफ्त मेडिकल कैम्प लगाने और अन्य सामान का वितरण शिविर इस क्षेत्र में हमेशा लगाया जाता है.

सीआरपीएफ की 214 वी बटालियन के जरिए सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत स्वास्थ शिविर का आयोजन किया गया, जहां सीआरपीएफ के डॉक्टर ने नक्सल प्रभावित गांवों के लगभग 500 ग्रमीणों का निशुल्क इलाज किया.

इसके साथ ही उनके बीच दवा का वितरण, जरूरत के अन्य सामान का वितरण और साथ -साथ सभी ग्रामीणों को खाना भी दिया गया. ग्रामीणों की मानें तो पहले नक्सलियों के द्वारा लगातार ग्रामीणों को प्रताड़ित किया जाता था लोगों से खाना की मांग की जाती थी और खाना नहीं देने पर लाठियां भी बरसाई जाती थी. वहीं अब यहां अमन चैन और विकास की गंगा बह रही है.

वही सीआरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट मनीष भारती ने बताया कि हम ग्रामीणों को सुरक्षा पहुंचाने के अलावा उनके सुख- दुःख का साथी बनना चाहते हैं. जिसके लिए हम उनसे अच्छा संबंध स्थापित करना चाहते हैं और यह प्रयास काफी कारगर भी हुआ है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर