लोहरदगा: 10 हजार के लिए घर से अगवा कर किसान को तलवार से काट डाला
Latehar News in Hindi

लोहरदगा: 10 हजार के लिए घर से अगवा कर किसान को तलवार से काट डाला
पुलिस की गिरफ्त में आए दो आरोपी

पुलिस (Police) ने किसान की अगवा कर हत्या (Murder) के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. बाकी पांच आरोपियों की गिरफ्तारी की कोशिश चल रही है.

  • Share this:
लोहरदगा. जिले के भंडरा थानाक्षेत्र के गडरपो पंचायत अंतर्गत लालपुर चेराटोली गांव में गत 6 मई को अगवा (Kidnap) कर किसान की हत्या (Murder) कर दी गई थी. पुलिस ने बुधवार को इस मामले का खुलासा किया. पुलिस के मुताबिक 10 हजार रुपए की लेन-देन में किसान (Farmer) की हत्या कर दी गई. इस मामले में दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इस वारदात में शामिल अन्य 5 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी में जुटी है.

भंडरा थानाप्रभारी संत कुमार राय ने बताया कि इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड भंडरा थानाक्षेत्र अंतर्गत पोड़हा गांव निवासी भूषण उरांव और गुमला जिले के सिसई थाना क्षेत्र के नगर गांव निवासी मोहन गोप का पुत्र अनिल गोप उर्फ मुर्गा है. दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. थानाप्रभारी के मुताबिक इस मामले के पांच अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस कोशिश कर रही है.

साजिश रचकर दिया घटना को अंजाम  



थानेदार ने बताया कि पोड़हा गांव निवासी स्वर्गीय लांगो पहन के पुत्र भूषण उरांव ने गिरोह बनाकर लालपुर चेराटोली गांव निवासी किसान अंगनू उरांव के अपहरण की साजिश रची थी. जिसमें भूषण उरांव, महावीर टाना भगत, संदीप टाना भगत, खुदिया उरांव, अनिल गोप का उसने सहयोग लिया था. सभी को भूषण उरांव अपने घर बुलाकर अपहरण की योजना तैयार की और अंगनू उरांव के घर जाकर उसका अपहरण किया, फिर गुमला जिले के भरनो थानाक्षेत्र के बारंदा अंबा बगीचा के समीप ले जाकर तलवार से निर्मम हत्या कर दी.
10 हजार लेकर लौटा नहीं रहा था मृतक 

पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आया है कि अंगनू उरांव के अपहरण की वारदात को अंजाम देने के पूर्व एक अपराधी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना को भी अंजाम दिया. पुलिस की गिरफ़्त में आए अपराधी अनिल गोप उर्फ मुर्गा ने भंडरा थाना पुलिस को दिए बयान में कहा कि रांची में राज मिस्त्री का काम करने के दौरान उसकी दोस्ती भूषण उरांव से हुई थी. भूषण ने एक दिन उसे फोन पर बताया कि अंगनू मवेशी दिलाने के नाम पर उससे 10 हजार रुपया लिया है, जो वापस नहीं कर रहा है. किसी तरह उस पैसे को वापस कराने में मेरी मदद करो. जिसके बाद अनिल ने अंगनू से बातकर पैसा वापस करने की बात कही थी, पर अंगनू पैसा वापस नहीं कर रहा था. जिसके बाद भूषण उरांव ने अनिल के सहयोग से अन्य साथियों के साथ मिलकर 6 मई की रात अंगनू के घर जाकर वारदात को अंजाम दिया. इधर इस मामले को लेकर भंडरा थाना में भादवि की धारा 364, 302, 201, 376, 458, 34 के तहत दर्ज कांड 27/20 में दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

रिपोर्ट- अदिति सिन्हा

ये भी पढ़ें- लाख मनाने पर भी मायके से नहीं आई पत्नी, तो बिरहोर युवक ने कर ली खुदकुशी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading