लाइव टीवी
Elec-widget

लातेहार : नक्सली हमले के बाद से पुलिस कर रही कैंप, अभी तक किसी ने नहीं ली जिम्मेदारी

News18 Jharkhand
Updated: November 23, 2019, 10:55 AM IST
लातेहार : नक्सली हमले के बाद से पुलिस कर रही कैंप, अभी तक किसी ने नहीं ली जिम्मेदारी
लातेहार में नक्सलियों के हमले में घायल हुए जवान के स्वास्थ्य की जांच करते हुए डॉक्टरों का दल

इस हमले की जिम्मेवारी अभी तक किसी ने नहीं ली है. बताया जा रहा है कि रविन्द्र गंझू द्वारा इस घटना को अंजाम दिया गया है. पुलिस और सुरक्षा बलों द्वारा घटना के बाद अलर्ट जारी कर दिया गया है और पूरे मामले के बाद सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

  • Share this:
लातेहार. झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) से ऐन पहले लातेहार में नक्सलियों ने दस्तक देते हुए देर रात पीसीआर वैन (PCR Van) को निशाना बनाया. नक्सलियों के इस हमले (Naxal Attack) में 1 एएसआई सहित 4 जवान शहीद हो गए. घटना के बाद से पुलिस के कई अधिकारी और पदाधिकारी लातेहार (Latehar) के चंदवा (Chandwa) इलाके में कैम्प कर रहे हैं. नक्सलियों ने यह हमला चंदवा थाना से महज 2 किलोमीटर दूर स्थित लुकुइया मोड़ पर किया. हमले के दौरान नक्सलियों की तरफ से सैकड़ों राउंड गोलियां चलाई गईं. इस हमले की जिम्मेवारी अभी तक किसी ने नहीं ली है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रविन्द्र गंझू द्वारा इस घटना को अंजाम दिया गया है. पुलिस और सुरक्षा बलों द्वारा घटना के बाद अलर्ट जारी कर दिया गया है और पूरे मामले के बाद सर्च अभियान चलाया जा रहा है.

नक्सलियों ने एएसआई की पिस्टल व रायफलें लूट ली

हमले में पीसीआर की पूरी पार्टी में मात्र एक होमगार्ड का जवान ही बच पाया. एएसआई सुकरा उरांव, चालक यमुना प्रसाद, होमगार्ड जवान शंभु प्रसाद, होमगार्ड जवान सत्येंद्र सिंह शहीद हो गए. जिस जगह ये घटना हुई वहां आसपास घर और दुकानें भी हैं. इस हमले के माध्यम से नक्सलियों ने लोगों में दहशत पैदा करने की कोशिश की है. घटनास्थल से भागने के क्रम में नक्सलियों का मैग्जीन भी गिरा मिला. नक्सलियों ने एएसआई की पिस्टल और जवानों की रायफलें भी लूट ली.

लातेहार में नक्सलियों ने पीसीआर वैन पर अंधाधुंध फायरिंग की


घायल जवान को रिम्स रांची रेफर किया गया था

शहीद हुए 4 जवानों में से एक का पार्थिव शरीर रांची लाया गया. शहीद जवान शंभू लातेहार जिले के मनिका का रहने वाला था. जानकारी के अनुसार नक्सली हमले के बाद घायल जवान को गंभीर स्थिति में लातेहार से रिम्स रांची रेफर किया गया था. उसे लेकर पुलिस रांची के लिए चली थी, लेकिन लोहरदगा के कुडू और चान्हो के बीच ही जवान ने दम तोड़ दिया. हालांकि उसके पार्थिव शरीर को पुलिसकर्मी लेकर सीधे रिम्स पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने जवान को मृत घोषित कर दिया.

शहीद जवान के पार्थिव शरीर के साथ चंदवा थाना के एएसआई जोसेफ तिर्की और जवान इंद्रदेव कुशवाहा भी पहुंचे थे. रिम्स में पहले से ही रांची के एसएसपी अनीश गुप्ता सहित कई अधिकारी मौजूद थे. जिला प्रशासन के आदेश पर देर रात जवान के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम कराया गया. शहीद एएसआई सुकरा उरांव, चालक यमुना प्रसाद और होमगार्ड जवान सत्येंद्र सिंह के शव को लातेहार के सदर अस्पताल पोर्स्टमार्टम के लिए ले जाया गया.
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लातेहार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 10:28 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com