लाइव टीवी

अस्पताल ने नहीं दिया एंबुलेंस, नवजात के शव को गोद में उठाकर पैदल घर पहुंचा लाचार पिता

News18 Jharkhand
Updated: August 8, 2018, 5:50 PM IST
अस्पताल ने नहीं दिया एंबुलेंस, नवजात के शव को गोद में उठाकर पैदल घर पहुंचा लाचार पिता
मजबूर पिता मनोज भुइयां

सिविल सर्जन एसपी शर्मा ने कहा की मामले की जांच की जा रही है. इस मामले में मनिका के प्रभारी चिकित्सक से स्पष्टीकरण मांगा गया है.

  • Share this:
लातेहार में स्वास्थ्य विभाग की घोर उदासीनता सामने आई. मामला मनिका सामुदायिक केन्द्र का है. नवजात का शव घर ले जाने के लिए पिता एंबुलेंस की मांग करता रहा, लेकिन उसे नहीं दिया गया. बाद में मजबूर पिता शव को गोद में उठाकर घर पहुंचा.

दरअसल जुंगूर के बांझी पोखर के रहने वाले मनोज भुइयां की पत्नी को प्रसव पीड़ा शुरू हुआ, तो गांव से स्वास्थ्य केन्द्र ले जाने के लिए ममता वाहन नहीं मिला. थक हारकर मनोज भाड़े की गाड़ी से पत्नी को लेकर स्वास्थ्य केन्द्र मनिका पहुंचा. लेकिन वहां भी किस्मत ने दगा दे दिया. पत्नी ने मृत बच्चे को जन्म दिया.

चिकित्सक ने नवजात के शव को मनोज के हवाले कर दिया और घर ले जाने को कहा. इस दौरान वह एम्बुलेंस के लिए गुहार लगाता रहा. लेकिन उसकी एक ना सुनी गई. बेबस मनोज शव को गोद में उठाकर पैदल घर गया.

मनोज ने बताया कि ना ही सहिया साथ गयी और ना ही ममता वाहन का लाभ मिला. भाड़े की गाड़ी से पत्नी को अस्पताल पहुंचाया. लेकिन नवजात के शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं दिया गया. लाचार होकर गोद में शव को घर लाया.

सिविल सर्जन एसपी शर्मा ने कहा की मामले की जांच की जा रही है. इस मामले में मनिका के प्रभारी चिकित्सक से स्पष्टीकरण मांगा गया है. दोषी पाये जाने पर जरूर कार्रवाई होगी.

(विकास की रिपोर्ट)

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लातेहार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 8, 2018, 5:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर