Home /News /jharkhand /

मिसालः श्‍मशान घाट तक पहुंच सके शव, इसलिए मुसलमानों ने दान कर दी जमीन; बना डाली सड़क

मिसालः श्‍मशान घाट तक पहुंच सके शव, इसलिए मुसलमानों ने दान कर दी जमीन; बना डाली सड़क

Latehar Positive News: झारखंड के लातेहार में हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन ईद उल मिलादुन्नबी के मौके पर मुस्लिम परिवारों ने भाईचारे की मिसाल कायम की.

Latehar Positive News: झारखंड के लातेहार में हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन ईद उल मिलादुन्नबी के मौके पर मुस्लिम परिवारों ने भाईचारे की मिसाल कायम की.

Latehar Positive News: ईद उल मिलादुन्नबी और शरद पूर्णिमा के मौके पर सेमरी और बरवाडीह के हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एकता की मिसाल पेश की. मुस्लिम समुदाय के लोगों ने यहां रैयती भूमि दान देकर श्रमदान से श्मशान घाट तक जाने का रास्ता तैयार कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट – संजय भारती

    लातेहार. झारखंड के लातेहार में गांववालों ने एकता की मिसाल पेश की. मनिका प्रखंड के सेमरी गांव में हिंदुओं को श्मशान घाट तक जाने का रास्ता नहीं था. सेमरी और बरवाडीह के हिन्दू-मुस्लिम दोनों समुदाय के लोगों ने आपसी सहमति बनाई. इसके बाद मुस्लिम समुदाय के आधे दर्जन से अधिक लोगों ने अपनी रैयती भूमि दान देकर श्रमदान से श्मशान घाट तक जाने का रास्ता तैयार किया. सड़क निर्माण का काम बीते मंगलवार से ही शुरू है. उस दिन मुस्लिम समुदाय का पर्व हजरत मोहम्मद साहब का जन्मदिन ईद उल मिलादुन्नबी था. उसी दिन हिन्दुओं का शरद पूर्णिमा का त्योहार था. इस मौके पर दोनों समुदायों ने आपसी भाईचारे की मिसाल कायम की.

    बीते मंगलवार को सुबह से ही गांव के दोनों समुदाय के लोग श्मशान घाट की ओर कुदाल, गैंता, टोकरी लेकर पहुंचे और सड़क बनाने में जुट गए. सेमरी गांव के ग्राम प्रधान नागेंद्र उरांव ने कहा कि हिंदुओं को श्मशान घाट पर जाने में काफी परेशानी होती थी, क्योंकि वहां जाने का अब तक कोई रास्ता नहीं था. उन्होंने बताया कि सेमरी और बरवाडीह गांव के लोगों ने मिलकर फैसला लिया. इसके तहत मुस्लिम समुदाय के लोगों ने श्मशान घाट तक जाने के लिए बेहिचक अपनी जमीन दान में दे दी.

    ग्राम प्रधान ने कहा कि हमारे कई पुरखों से उक्त श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार किया जाता रहा है. परंतु रास्ता नहीं होने के कारण काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था. श्मशान घाट तक रास्ता के लिए रैयती जमीन देने वालों में से वकील अंसारी, अमीर हसन अंसारी, औरंगजेब खान, बिस्मिल्लाह खान, गुलाम हुसैन, सलीम अंसारी समेत अन्य लोग शामिल हैं.

    इस मौके पर जमीन देने वाले मुस्लिम परिवार के लोगों ने भी श्रमदान देकर श्मशान घाट तक रास्ता तैयार करने में पूरी मदद की. ग्रामीणों ने बताया कि हजरत मोहम्मद साहब के जन्मदिन और हिंदुओं के शरद पूर्णिमा त्योहार के दिन आपसी भाईचारे की मिसाल पेश करना, बेहतरीन है. गांव के लोगों ने ही वर्षों से चली आ रही समस्या का आपसी सहमति से निदान कर दिया.

    Tags: Jharkhand news, Latehar news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर