बेतला नेशनल पार्क में देखते ही शिकारियों को गोली मारने का आदेश
Latehar News in Hindi

बेतला नेशनल पार्क में देखते ही शिकारियों को गोली मारने का आदेश
बेतला नेशनल पार्क में 15 फरवरी को मृत बाघिन पाई गई थी.

पीटीआर के क्षेत्र निदेशक वाईके दास ने कहा कि 15 फरवरी को बाघिन की मौत के बाद रिजर्व एरिया में शिकारियों के सक्रिय होने की आशंका है. क्योंकि शिकारियों को अब लगने लगा है कि बेतला नेशनल पार्क समेत पूरे पीटीआर में बाघ मौजूद हैं.

  • Share this:
लातेहार. बेतला नेशनल पार्क (Betla National Park) में देखते ही शिकारियों (Poachers) को गोली मारने का आदेश (Order to Shoot) दिया गया है. हाल में हुई बाघिन (Tigress) की मौत के बाद क्षेत्र के निदेशक वाईके दास ने यह आदेश दिया है. साथ ही पूरे क्षेत्र को अलर्ट पर रखा गया है. इस सिलसिले में लातेहार एसपी से पार्क के लिए विशेष सुरक्षा की भी मांग की गई है. पलामू टाइगर रिजर्व (पीटीआर) के क्षेत्र निदेशक वाईके दास ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये बातें कहीं.

शिकारियों के सक्रिय होने की आशंका 

उन्होंने कहा कि 15 फरवरी को बाघिन की मौत के बाद रिजर्व एरिया में शिकारियों के सक्रिय होने की आशंका है. क्योंकि शिकारियों को अब लगने लगा है कि बेतला नेशनल पार्क समेत पूरे पीटीआर में बाघ मौजूद हैं. इस कारण शिकारियों पर कड़ी नजर रखने का निर्देश दिया गया है. पीटीआर के सभी रेंजर, फॉरेस्टर्स को विशेष चौकसी बरतने का आदेश दिया गया है. क्षेत्र निदेशक ने कहा कि अभी भी पीटीआर में दो बाघ मौजूद होने की सूचना है.



मृत बाघिन का नाम हेमा रखा गया



बेतला नेशनल पार्क में मृत बाघिन पाये जाने के बाद पार्क के रोड नंबर दो को पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था. हालांकि अब इस रोड को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. हालांकि जिस जगह पर बाघिन का शव मिला था, उस जगह को अभी भी सील रखा गया है. मृत बाघिन का नाम हेमा रखा गया है. उसकी याद में घटनास्थल पर स्मारक बनाया जाएगा. लकड़ी का स्टेच्यू बनाकर स्थापित किया जाएगा. यह भी पता लगाया जा रहा है कि पूर्व में मृत पायी गई रानी बाघिन के साथ हेमा का कोई संबंध तो नहीं है.

ये भी पढ़ें- क्रिकेट के साथ किसानी में भी हाथ आजमा रहे धोनी, कर रहे खरबूज और पपीते की खेती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading