लाइव टीवी

लातेहार में भूख से हुई थी बुजुर्ग की मौत, एसडीएम ने कहा-'अभी नहीं हुई पुष्टि'

News18 Jharkhand
Updated: June 7, 2019, 5:22 PM IST
लातेहार में भूख से हुई थी बुजुर्ग की मौत, एसडीएम ने कहा-'अभी नहीं हुई पुष्टि'
प्रतीकात्मक तस्वीर: लातेहार में भूखमरी से बुजुर्ग की मौत

झारखंड के लातेहार जिले में बीते बुधवार को 65 वर्षीय बुजुर्ग रामचरण मुंडा की भूख से मौत हो गई थी. लातेहार के एसडीएम सुधीर कुमार ने कहा कि ये साबित नहीं हो रहा है कि भूख से मौत हुई है.

  • Share this:
झारखंड के लातेहार जिले में बीते बुधवार को 65 वर्षीय बुजुर्ग रामचरण मुंडा की भूख से मौत हो गई थी. मृतक की पत्नी चमरी देवी ने अपनी पीड़ा सुनाते हुए कहा कि हमें तीन महीने से राशन नहीं मिला है. पत्नी ने नम आंखों से कहा कि हमारे घर में तीन दिन से एक भी दाना नहीं है और यही वजह है कि हमारे यहां पिछले तीन दिनों से खाना नहीं बन रहा था. चमरी देवी ने बताया कि उनका पीएच राशन कार्ड है, जिसमें परिवार के तीन सदस्यों का ही नाम शामिल था. इस मामले में लातेहार के एसडीएम सुधीर कुमार ने शुक्रवार को कहा कि ये साबित नहीं हो रहा है कि भूख से मौत हुई है. इस परिवार को आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत कार्ड मिला हुआ है. इस परिवार को उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर मिला है. राशन का कार्ड और पेंशन कार्ड भी मिला हुआ है.

अधिकारी ने परिवार का हालचाल  जाना था 

लातेहार जिले के महुआडांड़ प्रखंड के दुरुप पंचायत के लुरगुमी कला में रामचरण मुंडा की मौत हो गई थी. बीते गुरुवार को ग्रामीणों ने इसकी सूचना मनरेगा के सहायता केंद्र में दे दी थी. सहायता केंद्र से पहुंची एक महिला अधिकारी अफसाना मृतक के घर पहुंचकर उनके मौत की वजह की जानकारी ली और उसके परिवार से बातचीत करके उनके घर का हालचाल जाना.

मृतक के परिवार को 50 किलो अनाज की दी सहायता

मनरेगा सहायता केंद्र की ओर मृतक के परिवार को 50 किलोग्राम अनाज और दाह संस्कार के लिए तत्काल 2000 रुपये की मदद दी गई. महिला अधिकारी ने बताया कि वह जब रामचरण मुंडा के घर पहुंची और जानकारी ली तो मालूम चला कि घर में अनाज का एक दाना भी नहीं था और तीन दिनों से घर में चूल्हा नहीं जला था. भूखे रहने के कारण रामचरण की मौत हो गई. अफसाना ने बताया कि परिजनों ने उन्हें यह जानकारी दी थी कि स्थानीय डीलर ने नेटवर्क का बहाना बनाकर तीन माह से राशन का वितरण भी नहीं किया है.

बीडीओ ने कहा कि लू लगने से हुई मौत

इस मामले में बीडीओ प्रीति किस्कू ने कहा कि रामचरण मुंडा की मौत लू लगने से हुई है. उसका इलाज छत्तीसगढ़ व महुआडांड में भी हुआ था. अगर अनाज नहीं मिल रहा था तो इसकी जांच कराई जाएगी.यह भी पढ़ें: RIMS में खुलेगा न्यूरोलॉजी विभाग, की जा रही चिकित्सकों की नियुक्तियां

'झारखंड सरकार नहीं दे रही है लालू यादव को मूलभूत सुविधाएं'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रांची से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 7, 2019, 4:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर