लाइव टीवी

परिजनों ने पढ़ने से रोका तो बच्ची ने की आत्महत्या की कोशिश
Lohardaga News in Hindi

Gautam Lenin | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: May 8, 2017, 11:39 AM IST
परिजनों ने पढ़ने से रोका तो बच्ची ने की आत्महत्या की कोशिश
पढ़ाई के लिए इस बच्ची ने की थी आत्महत्या की कोशिश.

पढ़ाई के प्रेशर में जान देने के मामले तो बहुत सामने आए हैं, लेकिन झारखंड के लोहरदगा जिले में पढ़ाई करने के लिए जान देने की कोशिश का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है.

  • Share this:
पढ़ाई के प्रेशर में जान देने के मामले तो बहुत सामने आए हैं, लेकिन झारखंड के लोहरदगा जिले में पढ़ाई करने के लिए जान देने की कोशिश का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है.

जिले के सुदूरवर्ती पठारी क्षेत्र में नक्सल प्रभावित प्रखंड पेशरार के इस छोटे से गांव झमटवार में एक आदिमजनजाति की युवती ने परिजनों के पढ़ाई नहीं करने देने से गुस्से में आई युवती ने जान देने की कोशिश की.

बच्ची की मां की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. जंगल में रहकर किसी तरह ये अपने सात बच्चों का लालन पालन कर रही है. पैसों के अभाव में बच्चों का पूरा तन भी नहीं ढक पा रही है. ऐसे में अतिरिक्त खर्च के बारे में यह परिवार सोच भी नहीं सकता है, लेकिन इस घर की एक ग्यारह वर्षीय लड़की ने कुएं में कुदकर जान देने का प्रयास किया.

गांव वालों की मदद से जब उसे कुएं से बाहर निकाला गया तो उसने घर में खाना खाना बंद कर दिया. क्योंकि इस घर की बच्ची मुलकी को आगे पढ़ने की इच्छा थी.

वह चाहती है कि अपने जीवन में उसे अंगुठा कभी नहीं लगाना पड़े और बच्ची के इसी जज्बे को देखकर परिजनों को हार मानना पढ़ा.

बच्ची के जज्बे ने इसे जंगल पहाड़ों से उठाकर शिक्षा के मंदिर में बैठा दिया है. अब यह आगे बढ़ना चाहती है. इस मुलकी नगेसिया की इच्छा है कि वह पढ़ लिखकर नौकरी करे.

जीवन में कभी इसे अंगुठा नहीं लगाना पड़े. इस दिशा में अब इसने अपना कदम बढ़ा दिया है. शिक्षा विभाग के पदाधिकारी भी इसे हर सुविधा उपलब्ध कराने की बात कह रहे है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लोहरदगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 8, 2017, 11:39 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर