लाइव टीवी

कुदाल और कुल्हाड़ी छोड़ क्रीम-पाउडर से जिंदगी संवार रहीं बेटियां
Lohardaga News in Hindi

Gautam Lenin | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 27, 2017, 10:04 AM IST
कुदाल और कुल्हाड़ी छोड़ क्रीम-पाउडर से जिंदगी संवार रहीं बेटियां
फोटो ईटीवी

कल तक जिन हाथों में कुल्हाड़ी, कुदाल और टोकरी हुआ करती थी, आज वही अपनी और दूसरों की जिंदगी में सुंदरता बिखेर रही है. सुदूर गांव की बेटियों के हाथ में क्रीम, पाउडर और ब्रश आ गए हैं जिससे वे जिंदगी संवारने में लगी हैं.

  • Share this:
कल तक जिन हाथों में कुल्हाड़ी, कुदाल और टोकरी हुआ करती थी, आज वही अपनी और दूसरों की जिंदगी में सुंदरता बिखेर रही है. सुदूर गांव की बेटियों के हाथ में क्रीम, पाउडर और ब्रश आ गए हैं जिससे वे जिंदगी संवारने में लगी हैं.

क्या है मामला

केन्द्र सरकार की ब्यूटी प्रशिक्षण योजना का लाभ लोहरदगा के ग्रीमण इलाकों की बेटियां ले रही हैं. लोहरदगा जिला के बैंक बीओआई के माध्यम से इन्हें ब्यूटिशियन का प्रशिक्षण आरसेटी भवन में दिलाया जा रहा है. जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्र से इन्हें चुन चुन कर इस संस्थान में लाया गया है ताकि भटकाव के बजाय ये समाज की मुख्य धारा से जुड़ सकें. आरसेटी के प्रबंधक राजीव कुमार के मुताबिक अब तक एक हजार से ज्यादा युवतियों को प्रशिक्षित किया जा चुका है.

उम्मीदों का आसमान

इधर प्रशिक्षण ले रही इलाके की लड़कियों में भी अपने ज्ञान को एक मुकाम तक पहुंचाने का जुनून सवार हो चुका है. भीड़ के कुछ अलग हटकर ये अपनी पहचान बनाना चाहती हैं. प्रशिक्षु सुकन्या टोप्पो कहती हैं कि गांवों में इसका पूरा स्कोप है. वहां कि महिलाएं भी अपनी सुंदरता को लेकर सजग हो रही हैं. वहीं ट्रेनिंग ले रह अंजू उरांव भी कहती हैं कि जहां नौकरी मिलना इतना कठिन है, ऐसी ट्रेनिंग हमारे लिए वरदान की तरह है.

धूल और बॉक्साइड का जिला लोहरदगा अब अपनी अलग पहचान बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. इस बार कमान बेटियों ने संभाल ली है.अब हर दिशा में ये बेटियां अपनी पहचान बनाना चाहती है. बस दरकार है कि इन्हें सही दिशा में प्लेटफार्म दिया जाय.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लोहरदगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 27, 2017, 10:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर