नदी पार करते समय फंस गई सीओ साहब की गाड़ी, निकालने में लगे 2 घंटे

लोहरदगा के किसको प्रखंड के सीओ की गाड़ी को नदी से बाहर निकालते लोग.

लोहरदगा के किसको प्रखंड के सीओ की गाड़ी को नदी से बाहर निकालते लोग.

झारखंड के लोहरदगा में किसको प्रखंड के अंचलाधिकारी क्षेत्र भ्रमण पर निकले, रास्ते में एक नदी में उनकी गाड़ी फंस गई. ड्राइवर की कोशिशें नाकाम रहीं तो गांव वालों को बुलाकर गाड़ी को नदी से निकाला गया.

  • Share this:

रिपोर्ट - आकाश साहू

लोहरदगा. झारखंड के लोहरदगा जिले के किसको प्रखंड के सीओ को आज अजीबो-गरीब स्थिति का सामना करना पड़ा, जब एक नदी में उनकी सरकारी फंस गई. दरअसल, किसको प्रखंड के अंचलाधिकारी बुडांय सारू क्षेत्र भ्रमण के लिए निकले थे. रास्ते में तसला नदी पड़ती है, जिसमें इन दिनों पानी कम है. लिहाजा ड्राइवर नदी के रास्ते ही गाड़ी निकाल रहा था, इसी दौरान सरकारी वाहन के चक्के रेत में धंस गए. ड्राइवर ने अथक कोशिशें की, लेकिन गाड़ी को नहीं निकाल पाया.

नदी में गाड़ी फंस गई तो सीओ और उनके साथ मौजूद अन्य लोग उतर गए. ड्राइवर ने रेत में फंसी गाड़ी को निकालने की तमाम कोशिशें की, लेकिन निकलने के बजाये गाड़ी के चक्के रेत में धंसते ही जा रहे थे. घंटेभर से ज्यादा देर तक कवायद के बाद भी जब ड्राइवर गाड़ी को नदी से नहीं निकाल पाया, तो पास के गांव के लोगों को बुलाना पड़ा. इस चक्कर में करीब दो घंटे लग गए. अंत में गांव वाले पहुंचे और सरकारी गाड़ी को धक्का देकर नदी से किसी तरह बाहर निकाला जा सका.

आपको बता दें कि झारखंड का लोहरदगा जिला नक्सल प्रभावित है. नक्सलियों के इलाके में सरकारी अधिकारी करीब दो घंटे तक फंसे रहे, इसको लेकर ग्रामीणों के बीच खूब चर्चाएं हो रही हैं. गांव वालों का कहना है कि इस इलाके में जब सरकारी अधिकारियों को ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ सकता है, तो गांव में रहने वालों की मुसीबत का अंदाजा लगाया सकता है कि वे कैसे रहते होंगे. खासकर बरसात के दिनों में जब नदी में पानी बढ़ जाता है, उस समय ग्रामीणों की समस्या और बढ़ जाती है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज