लाइव टीवी

यहां 'आम' से खास बन रही जिंदगानी

Gautam Lenin | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: June 14, 2017, 10:09 AM IST
यहां 'आम' से खास बन रही जिंदगानी
फोटो ईटीवी

आम की खेती ने अनपढ़ ग्रामीणों की जीवनशैली को बदल कर उन्हें खास बना दिया. किसान अनिता उरांव कहती हैं अब हमारे बच्चे भी प्राइवेट स्कूलों में टाई-बेल्ट लगा कर जाते हैं.

  • Share this:
फलों का राजा आम लोहरदगा के सैंकड़ों लोगों की जिंदगानी बदल रहा है. आम की मिठास का असर उनकी लाइफस्टाइल पर नजर आ रहा है. खासकर भंडरा प्रखंड के धनामुंजी गांव जो पहले बंजर जमीन, पलायन, गरीबी जैसे दंश झेल रहा था, आज बाहर भी आम की मिठास भेज रहा.

बाहर भी फैल रही यहां की मिठास

लोहरदगा जिला के भंडरा प्रखंड का धनामुंजी गांव कभी अपने सपूतों के पलायन के लिए जाना जाता था. रोजगार के अभाव और गरीबी के कारण गांव के युवाओं के नक्सली तक बनने की खबर सामने आ रही थी. लेकिन गांव वालों की सोच और मेहनत ने इस गांव की तकदीर को बदल कर रख दी. हथियार थामने वाले हाथ ने भी आम को अपना मुख्य रोजगार बना लिया है. लोहरदगा ही नहीं, गुमला, रांची और जमशेदपुर तक के बाजारों में धनामुंजी गांव के आम छाए हैं. अन्य राज्यों में भी यह आम पहुंच रहा है. इस वजह से आदिवासी बाहुल यह गांव अब आर्थिक रुप से मजबूत हो रहे हैं.

फोटो ईटीवी


बेहतर जीवनशैली

आम की खेती ने अनपढ़ ग्रामीणों की जीवनशैली को बदल कर उन्हें खास बना दिया. किसान अनिता उरांव कहती हैं अब हमारे बच्चे भी प्राइवेट स्कूलों में टाई-बेल्ट लगा कर जाते हैं. यह सब संभव हो सका है इस आम की खेती की वजह से. खेती बारी का पूरा खर्च आम से निकल जाता है. किसानों की बढ़ती उम्मीद ने हर घर को आम उत्पादन के लिए प्रेरित करने का काम किया है. किसान मुनू उरांव कहते हैं गांव में घर घर आम का पेड़ है और सब कुछ न कुछ इससे कमाई कर रहे हैं.

किसानों के द्वारा जिले में किए जा रहे आम की खेती को बाजार उपलब्ध कराने की दिशा में डीसी विनोद कुमार ने गंभीरता दिखाई है.  इनका कहना है कि जिले का आम स्वादिष्ट और मीठा होने की वजह से खुद व खुद बाजार पकड़ रहा है. ऐसे में जिला प्रशासन की ओर से इस दिशा में किसानों को और प्रोत्साहित करने की दिशा में काम किया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लोहरदगा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 14, 2017, 10:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर