Home /News /jharkhand /

Conversion News: सरना धर्म छोड़कर ईसाई बनने वाले युवक का सामाजिक बहिष्‍कार, शादी का कार्ड भी लौटाया

Conversion News: सरना धर्म छोड़कर ईसाई बनने वाले युवक का सामाजिक बहिष्‍कार, शादी का कार्ड भी लौटाया

Lohardaga Conversion Case: लोहरदगा के रघुटोली का एक युवक सरना धर्म त्‍याग कर ईसाई बन गया. ग्रामीणों को इस बात की सूचना शादी के कार्ड से मिली. ग्रामीणों ने ग्रामसभा का आयोजन कर धर्मांतरण करने वाले युवक और उनके परिवार का सामाजिक बहिष्‍कार करने का ऐलान किया. ग्रामीणों का आरोप है कि युवक को प्रलोभन देकर ईसाई बनाया गया है. वहीं, धर्म परिवर्तन करने वाले शख्‍स का कहना है कि वह ईसाई ही बने रहना चाहता है.

अधिक पढ़ें ...

    आकाश साहू

    लोहरदगा. धर्मांतरण कानून होने के बावजूद झारखंड में धर्म परिवर्तन का दौर लगातार जारी है. अब लोहरदगा में सरना धर्म के एक युवक द्वारा ईसाई बनने का मामला सामने आया है. युवक के ईसाई बनने पर ग्रामीणों ने उनका सामाजिक बहिष्‍कार कर दिया है. ईसाई धर्म अपनाने वाले युवक का विवाह होने वाला है. उन्‍होंने पूरे गांव में शादी का कार्ड बांटा था, लेकिन ग्रामीणों ने उनका बहिष्‍कार करते हुए कार्ड लौटा दिया. इस बाबत ग्रामसभा का आयोजन करके युवक और उनके परिवार के सामाजिक बहिष्‍कार करने का ऐलान किया गया.

    जानकारी के अनुसार, धर्म परिवर्तन के बाद संबंधित परिवार के सामाजिक बहिष्‍कार का यह मामला लोहरदगा के रघुटोली का है. यहां सतीश टोप्पो नामक युवक ने सरना धर्म छोड़कर ईसाई धर्म अपना लिया. सतीश ने अपनी शादी का कार्ड गांव में बांटा था, जिसपर चर्च और क्रॉस का निशान था. इसे देखते ही ग्रामीण समझ गए कि सतीश सरना धर्म छोड़कर ईसाई बन गया है. इसके बाद सरना समाज के लोगों और ग्रामीणों ने मिलकर ग्राम समिति हरमुख रघुटोली (लोहरदगा) द्वारा मंगलवार को ग्रामसभा का आयोजन किया गया. इसमें सतीश टोप्‍पो के बहिष्‍कार का फैसला किया गया. ग्रामीणों ने सतीश टोप्पो की शादी का कार्ड भी लौटा दिया.

    PHOTOS: ब्‍लास्‍ट के बाद धनबाद में जहरीली गैस का रिसाव, दहशत में स्‍थानीय लोग

    ग्रामसभा का आयोजन
    ग्रामसभा में कहा गया कि सरना समाज किसी भी व्‍यक्ति के धर्म परिवर्तन को कतई स्‍वीकार नहीं करेगा. ग्रामीण ने ग्राम सभा में निर्णय लिया कि सतीश टोप्पो के परिवार के किसी भी व्यक्ति को किसी भी संस्कृतिक कार्यक्रम समारोह में शामिल नहीं किया जाएगा. उनके परिवार वालों को मसना, सरना, अखड़ा पूजा अनुष्ठान में भाग नहीं लेने दिया जाएगा. धर्म परिवर्तन करने वाले शख्‍स और उसके परिवार का गांव के परंपरागत सरना समाजिक समारोह के आयोजन से भी दूर रखा जाएगा.

    धर्मपरिवर्तन करने वाले पर कार्रवाई की मांग
    सरना समाज के मुकेश उरांव का कहना है सरना समाज को ईसाई धर्म द्वारा अंदर से खोखला किया जा रह है. यह भविष्य के लिए चिंता का विषय है. इसलिए सरना समाज द्वारा कड़ा फैसला लिया गया है और समाज से धर्म परिवर्तन करने वाले लोगो को निकाला गया है. सामाजिक कार्यकर्ता उमेश उरांव ने कहा कि अंदर ही अंदर समाज में धर्म परिवर्तन का खेल चल रहा है और हमें शादी के कार्ड से पता चला कि इस युवक ने धर्म परिवर्तन कर लिया है.

    Religious Conversion

    ग्रामीणों ने धर्मांतरण करने वाले सतीश टोप्‍पो के शादी का कार्ड भी लौट दिया. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

    उमेश ने आरोप लगाया कि पास्टर द्वारा लालच देकर धर्म परिवर्तन कराया गया है. इसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा. उन्‍होंने सतीश टोप्पो के खिलाफ करवाई करने की भी मांग की है. ईसाई धर्म अपनाने वाले सतीश टोप्पो ने कहा कि उन्‍होंने स्वेच्छापूर्वक ईसाई धर्म अपनाया है. मैं इसी धर्म को मानूंगा और कोई भी मुझे इससे रोक नहीं सकता है. उन्‍होंने कहा कि वह ईसाई ही रहना चाहते हैं. पूरे मामले पर सरना समाज द्वारा उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा गया है और करवाई की मांग की गई है.

    Tags: Lohardaga news, Religious conversion

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर