Home /News /jharkhand /

sdo said sleeper cell of extremist organization was active in lohardaga violence nodaa

एसडीओ ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा- लोहरदगा हिंसा में एक्टिव थे कट्टरपंथी संगठन के स्लीपर सेल

लोहरदगा हिंसा के बाद चौथे दिन भी सुरक्षाबलों ने शहर में फ्लैग मार्च किया.

लोहरदगा हिंसा के बाद चौथे दिन भी सुरक्षाबलों ने शहर में फ्लैग मार्च किया.

Fourth day of violence: शांति समिति की बैठक के दौरान एडीओ अरविंद कुमार लाल ने चौंकाने वाले खुलासे करते हुए कहा कि हिरही में 10 अप्रैल को रामनवमी के जुलूस पर पथराव कर हिंसा को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया. इस मामले में कट्टरपंथी संगठन का स्लीपर सेल एक्टिव रहा. जिले में घटना के चौथे दिन भी जिले में इंटरनेट सेवा बंद है. धारा 144 लागू है.

अधिक पढ़ें ...

आकाश साहु

लोहारदगा. जिले के हिरही में रामनवमी शोभायात्रा पर पथराव और आगजनी के मामले में कई खुलासे हो रहे हैं. शांति समिति की बैठक के दौरान एडीओ अरविंद कुमार लाल ने चौंकाने वाले खुलासे करते हुए कहा कि हिरही की वारदात को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया है. उपद्रवी शहरी क्षेत्र के साथ-साथ जिले के अलग-अलग हिस्सों में वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे. शहरी क्षेत्र में पर्याप्त मात्रा में सुरक्षा व्यवस्था होने के कारण ग्रामीण क्षेत्र के हिरही में 10 अप्रैल को रामनवमी के जुलूस पर पथराव कर हिंसा को अंजाम दिया गया. इस पूरे मामले पर कट्टरपंथी संगठन का स्लीपर सेल एक्टिव रहा.

वहीं, जिले में घटना के चौथे दिन भी जिले में इंटरनेट सेवा बंद है. धारा 144 लागू है. इलाके में पुलिस बल लगातार कैंप कर रही है. माहौल को पूरी तरह से शांत नजर आ रहा है. बता दें कि कल लोहरदगा पहुंचे रघुवर दास ने भी इस हिंसा पर कट्टरपंथी संगठन पीएफआई का हाथ होने की आशंका जताई थी व उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की थी.

इधर पूरे मामले पर एसडीओ अरविंद कुमार लाल ने कहा कि जिले में स्लीपर सेल एक्टिव है. वह काफी गोपनीय तरीके से प्लान तैयार कर वारदात को अंजाम देता है. जिला प्रशासन वैसे लोगों की पहचान कर रही है. उन्होंने जिले के सभी लोगों से अपील की कि ऐसे तत्त्वों की जानकारी होने पर इसकी सूचना प्रशासन को पहुंचाएं. हिरही मामले को सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया है. पुलिस और प्रशासन के अब तक की जांच में जो बात सामने आई है उसमें कब्रिस्तान के समीप पथराव की पहली घटना के बाद जब रामनवमी जुलूस को समझा-बुझाकर भोक्ता बगीचा स्थित मेला स्थल तक ले जाया जा रहा था, इसी बीच फिर से 70-80 लोगों के झुंड ने भोक्ता बगीचा रेलवे स्टेशन के पास पहुंचे जुलूस पर फिर से पथराव किया. इस दौरान दोनों पक्षों के बीच झड़प शुरू हो गई साथ ही मेलास्थल में ठीक उसी वक्त आगजनी की घटना भी हुई. जो साफ साफ यह दर्शाता है कि घटना सुनियोजित थी.

पुलिस अधीक्षक आर रामकुमार ने हिंसा के बाद लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. साथ ही जिला प्रशासन को सूचना और संपर्क करने के लिए अपना नंबर 9431706218 भी जारी किया जिसमे लोग संपर्क कर सूचना दे सकते हैं. लोहरदगा के हिरही में हुई हिंसा को लेकर 8 सदस्यीय एसआईटी का गठन हो चुका है. इस टीम में 3 डीएसपी, 2 इंस्पेक्टर, 3 सब इंस्पेक्टर शामिल किए गए हैं. इस टीम का नेतृत्व एसडीपीओ वशिष्ठ नारायण सिंह करेंगे.

Tags: Jharkhand news, Lohardaga news, Ram Navami

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर