लोहरदगा के किस्को वनक्षेत्र में बाघिन का आतंक, मवेशियों को बना रही शिकार, लोगों में दहशत

बाघ की मौजूदगी की सूचना पर वन विभाग की टीम एक्टिव हो गई है.

Lohardaga News: बाघिन की मौजूदगी विगत 21 मई को चर्चा में तब आई जब सलैया पंचायत के बड़का मडुवापाट निवासी इदरीश नगेसिया के तीन बैलों को इसने अपना शिकार बनाया.

  • Share this:
    रिपोर्ट- आकाश साहू

    लोहरदगा. झारखंड के लोहरदगा जिले के किस्को वन क्षेत्र के सलैया व मंडुआ पाट में बाघ (Tiger) ने एक बार फिर अपनी मौजूदगी का अहसास करवाया है. यहां बाघ ने एक माह के अंदर ग्रामीणों के तीन बैल समेत आधे दर्जन पशुओं को अपना शिकार बनाया है. जंगलों में बाघिन की उपस्थिती की जानकारी सामने आने के बाद से ही आसपास के गांवों में दहशत का माहौल बना हुआ है. एक्सपर्ट टीम को जंगल में बाघिन की मौजूदगी के प्रमाण मिले हैं, इसकी पुष्टि भी हुई है.

    बाघिन की मौजूदगी विगत 21 मई को चर्चा में तब आई जब सलैया पंचायत के बड़का मडुवापाट निवासी इदरीश नगेसिया के तीन बैलों को इसने अपना शिकार बनाया. बारिश में मवेशी जंगल में भटक गए थे और बाघिन का शिकार बन गए. दो और ग्रामीणों के पशुओं को बाघिन ने मार डाला.

    ग्रामीणों से मिली सूचना और वन कर्मियों की रिपोर्ट पर विभाग ने संज्ञान लेते हुए बाघ की मौजूदगी की जांच कराई. पलामू टाइगर रिजर्व की टीम ने दो दिन क्षेत्र भ्रमण किया. बाघिन द्वारा किए गए शिकार की पड़ताल की. पैरों के निशान देखे.

    टाइगर एक्सपर्ट बताते हैं कि बाघ और बाघिन के पैरों के निशान अलग-अलग होते हैं. शिकार करने और खाने का तरीका भी अलग होता है. बाघ हमेशा अपने शिकार के शरीर के आगे वाले हिस्से से खाना शुरू करता है और 48 घंटे बीत जाने पर शिकार को नहीं खाता. जबकि लकड़बग्घा और दूसरे जानवर ऐसा करते हैं.

    ग्रामीण इदरीश नगेशिया का दावा है कि वह जब अपने पशुओं की तलाश में निकले थे, तो उन्होंने बाघिन को गुफा से निकलते हुए देखा था. हालांकि बाघिन ने किसी इंसान पर अब तक हमला नहीं किया है. फिर भी ग्रामीण डरे सहमे हुए हैं. और जंगलों में निकलने पर काफी एहतियात बरत रहे हैं.

    बाघिन की मौजूदगी के प्रमाण मिलने के कारण फॉरेस्ट विभाग द्वारा जंगल में अकेला नहीं जाने की हिदायत भी दी गई है. साथ ही पशुओं के मालिकों को उचित सहायता राशि  के लिए आश्वासन भी दी गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.