नवजात को श्मशान में जिंदा दफनाया, रोने की आवाज सुनकर राहगीर ने बचाई जान
Lohardaga News in Hindi

नवजात को श्मशान में जिंदा दफनाया, रोने की आवाज सुनकर राहगीर ने बचाई जान
कुरु थाना प्रभारी अनिल उरांव का कहना है कि मामले में जांच की जा रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

मामला कुरु थाना (Kuru Police Station) क्षेत्र का है. यहां के चंदलासो डैम (Chandlaso Dam) के समीप स्थित श्मशान घाट में शनिवार की शाम को एक जिंदा नवजात शिशु जमीन में दफन मिला था.

  • Share this:
(रिपोर्ट- अदिति सिन्हा)

लोहरदगा. झारखंड के लोहरदगा जिले (Lohardaga District) में मानवता को शर्मसार करने वाली एक खबर सामने आई है, जहां अज्ञात लोगों ने श्मशान (Crematorium) में एक नवजात बच्चे को जिंदा दफना (Bury) दिया. लेकिन गनीमत रही कि समय रहते नवजात को मिट्टी से बाहर निकाल लिया गया, जिससे उसकी जान बच गई. फिलहाल नवजात सुरक्षित है और गांव के एक परिवार के पास है. यह परिवार बच्चे को रविवार को कुरु थाना पुलिस के हवाले कर देगा. वहीं, इस घटना से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. बच्चे को देखने के लिए उसकी जान बचाने वाले परिवार के घर पर लोगों की भीड़ लग गई है.

जानकारी के मुताबिक, मामला कुरु थाना (Kuru Police Station) क्षेत्र का है. यहां के चंदलासो डैम (Chandlaso Dam) के समीप स्थित श्मशान घाट में शनिवार की शाम को एक जिंदा नवजात शिशु जमीन में दफन मिला था. जमीन में दफन नवजात के मिलने की सूचना पर आसपास के ग्रामीण जमा हो गए. बताया जाता है कि एक व्यक्ति श्मशान के समीप से गुजर रहा था. उसने इस नवजात शिशु के रोने की आवाज सुनी. जब उसने मौके पर जाकर देखा तो वहां एक नवजात को मिट्टी में आधा अधूरा दफन किया गया था. इसके बाद उसने नवजात को सही सलामत मिट्टी से बाहर निकाला और अपने साथ घर लेकर चला गया, जिससे उसकी जान बच गई.



ये भी पढ़ें- राजस्थान के 9 जिलों में आज हो सकती है झमाझम बारिश, ऑरेंज अलर्ट जारी
मामले की जांच शुरू कर दी है
वहीं, श्मशान में नवजात के दफन होने की सूचना मिलने पर कुरु थाना प्रभारी अनिरुद्ध मुरारी कुमार मौके पर पहुंच गए और मामले की जांच शुरू कर दी. कुरु थाना प्रभारी अनिल उरांव का कहना है कि मामले में जांच की जा रही है. नवजात के माता-पिता का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज