Home /News /jharkhand /

tributes paid to 11 jawans in lohardaga police line were martyred while fighting naxalites near dhardharia falls bruk

लोहरदगा पुलिस लाइन में 11 शहीद जवानों को दी गई श्रद्धांजलि, सीरीज लैंडमाइंस बिछाकर नक्सलियों ने किया था हमला

Tribute: झारखंड के लोहरदगा में 3 मई 2011 को हुए नक्सली हमले में 11 जवान शहीद हो गए थे.

Tribute: झारखंड के लोहरदगा में 3 मई 2011 को हुए नक्सली हमले में 11 जवान शहीद हो गए थे.

Jharkhand News: इस हमले में नक्सलियों द्वारा रेकी कर सुरक्षा बलों के चलाए जा रहे अभियान क्षेत्र में सीरीज लैंडमामाइंस का जाल बिछाया गया था, जिसके ब्लास्ट होते ही नक्सलियों ने पठारी इलाको से ताबड़तोड़ गोलियों की बरसात कर इस दिल दहला लेने वाली घटना को अंजाम दिया था. घटना में 11 जवान शहीद हो गए थे जबकि 50 से अधिक जवान घायल हो गए थे.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट- आकाश साहू 

लोहरदगा. लोहरदगा जिले के सेन्हा थाना क्षेत्र अंतर्गत धरधारिया में शहीद हुए 11 जवानों को पुलिस मेंस एसोसिएशन के कार्यालय में मंगलवार को नमन कर श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों ने कहा कि लोहरदगा में नक्सल के खिलाफ लड़ाई में उनका यह बलिदान हमेशा याद किया जाएगा. इस कार्यक्रम में पुलिस मेंस एसोसिएशन के सभी पदाधिकारी एवं जवान शामिल हुए. बता दें, लोहरदगा जिले के सेन्हा थाना क्षेत्र अंतर्गत धरधारिया जलप्रपात के पास 3 मई को 2011 को ही प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी ने अभियान में निकले जवानों पर घात लगाकर हमला कर दिया था. इस हमले में 11 जवान शहीद हो गए थे और 50 से ज्यादा जवान घायल हुए थे.

इस हमले में नक्सलियों द्वारा रेकी कर सुरक्षा बलों के चलाए जा रहे अभियान क्षेत्र में सीरीज लैंडमामाइंस का जाल बिछाया गया था, जिसके ब्लास्ट होते ही नक्सलियों ने पठारी इलाको से ताबड़तोड़ गोलियों की बरसात कर इस दिल दहला लेने वाली घटना को अंजाम दिया था. घटना में 11 जवान शहीद हो गए थे जबकि 50 से अधिक जवान घायल हो गए थे.

नक्सलियों ने पहाड़ी क्षेत्र का उठाया था फायदा

लोहरदगा जिला के विशेष शाखा सीआईडी ब्रांच में पदस्थापित मनोज सिंह और सेन्हा थाना में कार्यरत एएसआई जमशेद खान इस मुद्धभेड़ में शामिल थे. इस प्रेसर आईडी ब्लास्ट और गोलीबारी में मनोज सिंह ने अपनी एक आंख गंवाई तो उस समय कांस्टेबल रहे जमशेद खान ने अपना पैरा गंवाया. दोनों ने घटना कि आपबीती बताते हुए कहा कि सर्च अभियान के दौरान सुरक्षा बल जैसे ही झरना की ओर बढ़े अचानक से ब्लास्ट हुआ और हम कुछ समझ पाते कि एक के बाद एक आईडी ब्लास्ट हो गई जिसके बाद सुरक्षा बलों ने भी मोर्चा संभाला.

दोनों ओर से खूब गोलियां चली और पूरा इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया. पूरे पहाड़ों में गोलियां और ब्लास्टिंग का आवाज गूंजने लगी, हमने नक्सलियों का सामना मजबूती से किया लेकिन, नक्सलियों ने पहाड़ी क्षेत्र का फायदा उठाया जिसमे हमारे जवान शहीद हुए और कई घायल भी हुए थे.

ये जवान हुए थे शहीद 
शहीद जवानों में जिला बल के प्रमोद राय, लालचीक बड़ाइक,दिनेश महतो, चंद्रशेखर सिंह और राजेश कच्छप के अलावा सीआरपीएफ 133 बटालियन के जवानों में बिहार के छपरा निवासी डीएन सिंह, यूपी निवासी राधेकृष्ण, यूपी बुलंद शहर निवासी सतवीर सिंह, असम के गुवाहाटी निवासी डीसी डेका, यूपी के गाजियाबाद निवासी गजेंद्र सिंह और हरियाणा के प्रताप सिंह शामिल थे.

Tags: Jharkhand News Live, Lohardaga news, Martyred Jawan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर