Home /News /jharkhand /

Omicron:बैद्यनाथ मंदिर जाने से पहले भक्तगण जान लें ये नियम, वरना नहीं मिलेगा बाबा धाम में प्रवेश

Omicron:बैद्यनाथ मंदिर जाने से पहले भक्तगण जान लें ये नियम, वरना नहीं मिलेगा बाबा धाम में प्रवेश

बाबा बैद्यनाथ मंदिर में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को  कोविड का दोनों टीका लगवाना अनिवार्य रहेगा.

बाबा बैद्यनाथ मंदिर में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड का दोनों टीका लगवाना अनिवार्य रहेगा.

Deoghar News: बाबा बैद्यनाथ मंदिर (Baba Baidyanath Dham Temple) में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड का दोनों टीका (Covid Vaccine) लगवाना अनिवार्य रहेगा. इसके बिना भक्तगण बाबा के दर्शन नहीं कर पाएंगे. नए साल में बैद्यनाथ मंदिर में उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए शुक्रवार के दिन जिले के अधिकारियों ने बाबा मंदिर और रुट लाइन का निरीक्षण किया. अधिकारियों ने देवघर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर संभव सुविधा, सुरक्षा एवं स्वास्थ्य-व्यवस्था को लेकर रुटलाइन, बाबा मंदिर प्रांगण और मंदिर के आसपास के क्षेत्रों का निरीक्षण कर की जाने वाली तैयारियों का जायजा लिया.

अधिक पढ़ें ...

    देवघर. देश में कोरोना ने रूप बदल कर अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है. कई जगहों से ओमिक्रॉन (Omicron) के मामले सामने आ चुके हैं. ऐसे में केंद्र से लेकर राज्य सरकारों ने इस वायरस के खिलाफ अपनी तैयारियां आरंभ कर दी हैं. इसी के मद्देनजर झारखंड के देवघर (Deoghar) में भी विशेष तैयारी की है. बाबा बैद्यनाथ मंदिर (Baba Baidyanath Dham Temple) में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को  कोविड का दोनों टीका (Covid Vaccine) लगवाना अनिवार्य रहेगा. इसके बिना भक्तगण बाबा के दर्शन नहीं कर पाएंगे. बता दें कि नए साल के मौके पर भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने के लिए दूर-दूर से भक्त यहां आते हैं.

    नए साल में बैद्यनाथ मंदिर में  उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए शुक्रवार के दिन जिले के अधिकारियों ने बाबा मंदिर और रुट लाइन का निरीक्षण किया.अधिकारियों ने  देवघर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर संभव सुविधा, सुरक्षा एवं स्वास्थ्य-व्यवस्था को लेकर रुटलाइन, बाबा मंदिर प्रांगण और मंदिर के आसपास के क्षेत्रों का निरीक्षण कर की जाने वाली तैयारियों का जायजा लिया गया.

    मिली जानकारी के मुताबिक, नए साल के खास मौके पर  बाबा मंदिर परिसर के साथ शिवगंगा, क्यू कॉम्पलेक्स व मंदिर के आस पास के क्षेत्रों में दण्डाधिकारियों और पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की जाएगी. बताया जा रहा है कि  निरीक्षण के क्रम में एसपी धनंजय कुमार सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था को लेकर संबंधित पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया.

    बाबा बैद्यनाथ मंदिर

    मालूम हो कि बाबा बैद्यनाथ का मंदिर 12 शिवलिंग में से एक है. इसे ‘बैद्यनाथ धाम’ के नाम से भी जाना जाता है. हर साल सावन के महीने में यहां विशाल मेला लगता है. दूर-दूर से लोग यहां बाबा को जल चढ़ाने आते हैं. बैद्यनाथ धाम की पवित्र यात्रा श्रावण मास (जुलाई-अगस्त) में शुरू होती है. सभी श्रद्धालु सुल्तानगंज से पवित्र गंगा का जल लेकर लगभग सौ किलोमीटर की अत्यन्त कठिन पैदल यात्रा कर बाबा को जल चढ़ाते हैं. हालांकि कोरोना के कारण पिछले दो सालों से यहां सावन में किसी भी भव्य कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया है. बाबा बैद्यनाथ का मुख्य मंदिर सबसे पुराना है जिसके आसपास अनेक अन्य मंदिर भी बने हुए हैं. बाबा भोलेनाथ का मंदिर माता पार्वती के मंदिर से जुड़ा हुआ है.

    Tags: Deoghar news, Jharkhand news, Omicron

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर