लाइव टीवी

कटु अनुभव के बाद 8 हजार किसानों ने नहीं कराया फसल बीमा

Kundan Kumar | News18 Jharkhand
Updated: September 4, 2018, 8:38 PM IST
कटु अनुभव के बाद 8 हजार किसानों ने नहीं कराया फसल बीमा
बीमा योजना का लाभ ना मिलने से नाराज किसान

पाकुड़ में सरकार ने फसल बीमा योजना को शत प्रतिशत धरातल में उताने के लिए हर संभव कोशिश की लेकिन तय लक्ष्य 25 हजार में से में 17 हजार किसानों से ही फसल बीमा कराया जा सका.8 हजार किसानों ने फसल बीमा नहीं कराया.

  • Share this:
पाकुड़ में सरकार ने फसल बीमा योजना को शत प्रतिशत धरातल में उताने के लिए हर संभव कोशिश की लेकिन तय लक्ष्य 25 हजार में से में 17 हजार किसानों से ही फसल बीमा कराया जा सका.8 हजार किसानों ने फसल बीमा नहीं कराया.सरकार ने इस बार किसानों का विश्वास जीतने को हर संभव कोशिश की लेकिन अपने बीमा की मुआवजा राशि ना मिलने के कटु अनुभव के चलते किसानों ने एक नहीं सुनी.अधिकारियों का कहना है कि सरकार ने किसानों को हर संभव सहयोग करना चाहती है.किसान और खेती को सरकार मॉडल बनाने में जुटी हुई है ताकि युवा वर्ग नौकरी की चाहत में दुसरे प्रदेश में न भटक कर अपने शहर गांव में रहकर खेती करे और बेहतर जीवन यापन करे.

जनपद पाकुड़ के पाकुडिया प्रखंड में 25 हजार किसानों का फसल बीमा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था लेकिन यहां के हरिपुर, जोका, मोहल पहाडी, राज पोखर गांव सहित अन्य दर्जनों गांवों के किसानों ने फसल बीमा को तैयार नहीं हुए.किसी प्रकार कृषि विभाग ने किसान को समझाकर 70 फीसदी लक्ष्य को प्राप्त कर राहत की सांस ली.इस काम में कृषि विभाग और सहकारिता विभाग दोनों के अधिकारियों को लगाया गया था.अधिकारी बताते हैं कि बड़ी संख्या में किसानों के अंदर पूर्व में फसल बीमा का लाभ नहीं मिलने की बात को उठाया गया. हमने समझाया कि वर्तमान में सरकार शत प्रतिशत फसल बीमा का लाभ देगा.उन्होंने विश्वास जताया कि इस बार फसल बीमा का समुचित लाभ किसानों को मिला तो किसान खुद से कार्यालय आकर फसल बीमा कराएंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकुड़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2018, 8:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर