अपना शहर चुनें

States

यहां पत्थर मजदूरों ने प्रशासन पर परेशान करने का आरोप लगाया और काम से किया इनकार

पत्थर खदान के कर्मचारी
पत्थर खदान के कर्मचारी

आरोप है कि एसडीओ के कार्रवाई के बाद खदान में मजदूरों ने काम करने से मना कर दिया है. काम बंद होने और मजदूरों के हड़ताल के लिए पत्थर व्यवसायियों ने प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है.

  • Share this:
पाकुड़ जिले में एसडीओ के जिला टास्क फोर्स के साथ मिलकर एमएमसी के पत्थर खादान में छापेमारी के बाद पत्थर व्यवसायी और प्रशासन आमने-सामने आ गए हैं. आरोप है कि एसडीओ के कार्रवाई के बाद खदान में मजदूरों ने काम करने से मना कर दिया है और हड़ताल पर चले गए हैं. काम बंद होने और मजदूरों के हड़ताल के लिए पत्थर व्यवसायियों ने प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है.

पत्थर व्यवसायियों का कहना है कि कि एसडीओ ने जिला टास्क फोर्स के साथ एमएमसी के पत्थर खदान में छापेमारी की और कर्मचारियों से कई तरह के कागजात मांगे. मौके पर कागजात नहीं देने पर अभद्र व्यवहार किया. व्यवसायियों ने कहा कि लगातार प्रशासनिक कार्रवाई से मजदूरों में दहशत है. मजदूर और कर्मचारी मजदूरी के लिए काम करते है, लेकिन प्रशासनिक अधिकारी आए दिन उन्हें परेशान करते हैं. इसलिए मजदूर अब काम नहीं करना चाह रहे हैं. पत्थर व्यवसायियों ने प्रशासन से मांग की है कि अधिकारियों के रवैये में बदलाव लाया जाए नहीं तो तो पत्थर का कारोबार पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा.

इधर एसडीओ जितेंद्र कुमार देव ने बताया कि पत्थर खदान की जांच वरीय पदाधिकारियों के निर्देश पर की गई है. खदान में कई तरह की खामियां पाई गई, इन खामियों पर कार्रवाई के डर से पत्थर व्यवसायी इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि जांच की रिर्पोट डीसी को सौप दी गई है. डीसी का आदेश आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.



बता दे कि झारखंड़ सरकार ने कई तरह के नए नियम पत्थर उत्खनन में लगाए हैं. इन्हीं नियमों की पालन के जांच के लिए एसडीओ ने जिला टास्क फोर्स के साथ छापेमारी की थी.
यह भी पढ़ें- सब्जी मंडी में लगी आग, कई दुकानें जलकर खाक

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज