लाइव टीवी

संथाल परगना में ओलचिकी भाषा में लिखे जाएंगे सरकारी दफ्तरों के नाम: CM

News18 Jharkhand
Updated: February 14, 2019, 7:18 PM IST
संथाल परगना में ओलचिकी भाषा में लिखे जाएंगे सरकारी दफ्तरों के नाम: CM
सुकन्या योजना का लाभ देते सीएम रघुवर दास

मुख्यमंत्री रघुवर दास पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा में सुकन्या योजना जागरुकता समारोह में शामिल हुए. इस दौरान सीएम ने कहा कि बेटियों की चिन्ता अब मां-बाप से ज्यादा सरकार को है.

  • Share this:
मुख्यमंत्री रघुवर दास पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा में सुकन्या योजना जागरुकता समारोह में शामिल हुए. इस दौरान सीएम ने कहा कि राज्य सरकार बेटियों के भविष्य को संवारने के लिए बचनबद्ध है. बेटियों की चिन्ता अब मां-बाप से ज्यादा सरकार को है. लोगों से अपील करते हुए सीएम ने कहा कि बेटी दान से पहले विद्या दान जरूरी है.

कार्यक्रम में सीएम ने सुकन्या योजना के तहत संथाल परगना की पांच हजार 994 बेटियों को कुल 31 करोड़ रुपये का चेक प्रदान किया. साथ ही 117 करोड़ रुपये की योजनाओं का ऑनलाइन शिलान्यास व उद्घाटन भी किया. कार्यक्रम में स्वरोजगार के लिए परिसम्पतियों और ऋण का भी वितरण किया गया. उज्ज्वला योजना के लाभुकों को सिलेंडर और चूल्हे भी बांटे गये. सीएम ने ऐलान किया कि संथाल परगना के हर कार्यालय में संथाली ओलचिकी भाषा में नाम लिखा जायेगा और हर गांव में माझीथान बनाया जाएगा. बतौर सीएम आदिवासियों की संस्कृति को बचाने के लिए सरकार संकल्पित है.

सीएम ने जिले के हर गांव में जल्द पानी, बिजली और सड़क की सुविधा पहुंचाने का भी भरोसा दिलाया. कार्यक्रम में सीएम के अलावा मंत्री लुइस मरांडी समेत कई पदाधिकारी भी शामिल हुए.

रिपोर्ट- कुंदन कुमार

ये भी पढ़ें- तेली समाज की एसटी दर्जे की मांग पर सीएम की नसीहत, बात रखें पर धमकी ना दें

देर रात TEA स्टाॅल पर पहुंचे CM रघुवर दास, चाय पीकर बोले- अब मिट गई थकान

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकुड़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2019, 7:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर