Assembly Banner 2021

मानव तस्करी : भागकर घर लौटे युवकों ने कहा उन्हें बेच दिया था

महेशपुर, पाकुड़

महेशपुर, पाकुड़

पाकुड़ के महेशपुर में मानव तस्करी का मामला सामने आया है. घटना महेशपुर थाना के बड़कियारी पंचायत के लखीरामपुर आदिवासी टोला की है. धनेश्वर हेम्ब्रम और रमेश मरांडी को मुबंई में गांव के ही एक व्यक्ति अलफेयर हेम्ब्रम ने बेच दिया.

  • Share this:
पाकुड़ के महेशपुर में मानव तस्करी का मामला सामने आया है. घटना महेशपुर थाना के बड़कियारी पंचायत के लखीरामपुर आदिवासी टोला की है. धनेश्वर हेम्ब्रम और रमेश मरांडी को मुबंई में गांव के ही एक व्यक्ति अलफेयर हेम्ब्रम ने बेच दिया. दोनों युवको को इस बात का तब पता चला जब वे चौथे महीना की मजदूरी मांगने महजन के पास गए.

चौथे महीने की मजदूरी मांगने पर दोनों को महाजन ने बताया कि उन्हें उसके पास बेच दिया गया है. यह सुनकर दोनों ही रोने लगे. इस पर महाजन ने उन्हें एक साल की मजदूर एक ही साथ साल पूरा होने पर देने की बात कही. इस पर दोनों युवकों ने घर लौटने की इच्छा जाहिर की. लेकिन महाजन ने कहा कि अलफेयर हेम्ब्रम उन्हें बेच कर पैसा ले गया है. इसके बाद दोनों से काम करने को कहा गया. काम नहीं करने की सूरत में उन्हें जान से मार देने की धमकी दी गई.

इसके बाद दोनों ही मजदूर किसी तरह बचते बचाते वहां से भागने में सफल हो गए और पाकुड़ महेशपुर आ गए. गांव वालों ने आप बीती सुनने के बाद थाने में इस घटना के बारे में आवेदन दिया. वहीं पुलिस इस घटना के बारे में ज्यादा कुछ बताने से इंकार कर रही है.



मिली जानकारी के अनुसार अलफेयर हेम्ब्रम ने दोनों युवकों को 12 हजार रूपए महीना का झांसा देकर छह महीने काम करने की बात परिवार वालों से कह कर मुंबई ले गया था. आरोपित मानव तस्कर ने कहा था कि छह महीना में दोनों ही युवक काफी पैसे कमा लेंगे.  उसने इसी तरह की बात कर दोनों ही युवकों को मुंबई ले जाकर बेच दिया. जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के लिए मानव तस्करी को रोकना एक चुनौती बना हुआ है क्योंकि महेशपुर, पाकुड़िया, लिटटीपाडा, अमड़ापाड़ा में लगातार मानव तस्करी की घटना घट रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज