अपना शहर चुनें

States

यहां धड़ल्ले से हो रहा है बालू का अवैध उठाव

झारखंड में पाकुड़ जिले के पाकुड़िया स्थित ब्राह्मणी नदी से बालू का अवैध उठाव धड़ल्ले से हो रहा है जबिक यहां किसी तरह का सरकार से बालू के घाटों की नीलामी नहीं की गई है.
झारखंड में पाकुड़ जिले के पाकुड़िया स्थित ब्राह्मणी नदी से बालू का अवैध उठाव धड़ल्ले से हो रहा है जबिक यहां किसी तरह का सरकार से बालू के घाटों की नीलामी नहीं की गई है.

झारखंड में पाकुड़ जिले के पाकुड़िया स्थित ब्राह्मणी नदी से बालू का अवैध उठाव धड़ल्ले से हो रहा है जबिक यहां किसी तरह का सरकार से बालू के घाटों की नीलामी नहीं की गई है.

  • Share this:
झारखंड में पाकुड़ जिले के पाकुड़िया स्थित ब्राह्मणी नदी से बालू का अवैध उठाव धड़ल्ले से हो रहा है जबिक यहां किसी तरह का सरकार से बालू के घाटों की नीलामी नहीं की गई है.

इतना ही नहीं इसका सीधा फायदा यहां के विभागीय पदाधिकारियों को मिल रहा है. ऐसे में इससे सरकार को लाखों रुपए का चुना लग रहा है.

पाकुड़िया विधायक प्रतिनिधि एमानवेल मुर्मू ने बताया कि पाकुड़िया के ब्राह्मणी नदी से बालू लेकर पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर तक ले जाया जाता है. नदी में पोकलेन, जेसीबी लगाकर बालू की खुदाई कर ट्रक और ट्रैक्टर में लोड किया जा रहा है.



इतना ही नहीं पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा थाना क्षेत्र के दरादर, बड़ी धाधरी गांव के नदी से भी बालू का उठाव होता है. वहीं साहेबगंज जिले के बरहेट थाना के कदवा गांव में इसे डम्पिंग कर अवैध रूप से बेचा जाता है.
वहीं मामले में स्थानीय बीस सूत्री उपाध्यक्ष हृदयानंद भगत का कहना है कि अवैध बालू उठाव की सूचना कभी भी मिलती है या जांच के क्रम में पाई जाती है तो उसमें अविलंब कार्रवाई की जाती है. उन्होंने कहा कि आगे भी बालू का अवैध उठाव न हो इसके लिए वे सतत-प्रयासरत हैं.

पाकुड़ के सहायक खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा की मानें तो पाकुड़िया से बालू लेकर प्रति दिन 50 ट्रक, 2 से ज्यादा ट्रैक्टर बालू लेकर बंगाल जाता है. ब्राह्मणी नदी के लकखीजोल, बेनाकुड़ा, धुरनी घाट से बालू उठाया जाता है.

उन्होंने कहा कि सभी ट्रक और ट्रैक्टर बिना माइनिंग चालान के चलते हैं. थाने को ट्रक से 4 हजार रुपए और ट्रैक्टर से 2 हजार रुपए नजराना मिलता है. वहीं माइनिंग विभाग को महीने में लाखों रुपए का चढ़ावा चढ़ाया जाता है.

बहरहाल, मामले की शिकायत जनप्रतिनिधियों ने जिला प्रशासन से की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. मामले में अब माइनिंग विभाग कार्रवाई करने का बात कहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज