होम /न्यूज /झारखंड /पाकुड़ में दो नाबालिग बच्चियों के किडनैपर ने किया हाईवोल्टेज ड्रामा, आखिरकार पुलिस ले गई साथ

पाकुड़ में दो नाबालिग बच्चियों के किडनैपर ने किया हाईवोल्टेज ड्रामा, आखिरकार पुलिस ले गई साथ

पाकुड़ में खिड़की तोड़ने की कोशिश करते ग्रामीण और अंदर दिख रहा किडनैपर और उसके पीछे अगवा बच्ची.

पाकुड़ में खिड़की तोड़ने की कोशिश करते ग्रामीण और अंदर दिख रहा किडनैपर और उसके पीछे अगवा बच्ची.

Crime in Jharkhand: बच्चियां जब काफी देर तक घर नहीं पहुंचीं, तो घरवाले उन्हें ढूंढ़ने लगे. इसी बीच लिट्टीपाड़ा गांव की ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

रिपोर्ट : नंद किशोर मंडल

पाकुड़. पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा प्रखंड में आज हाईवोल्टेज ड्रामा हुआ. यहां एक शख्स ने गांव की 6 और 8 साल की दो बच्चियों को अपने कमरे में बंद कर लिया था. यह शख्स महज दो हफ्ते पहले इस मकान में बतौर किराएदार आया था. जब लोगों को इस मकान में लापता बच्चियों के बंद होने की जानकारी मिली तो सब उस मकान पर पहुंच गए और उस शख्स से दरवाजा खोलने को कहने लगे. लेकिन वह किसी भी हाल में दरवाजा खोलने को राजी नहीं हुआ.

इस शख्स की पहचान लिट्टीपाड़ा प्रखंड के धर्मपुर प्रोजेक्ट 2 विद्यालय के आदेशपाल के रूप में हुई है. यह घर भरत सोरेन का है जिसे दो हफ्ते पहले आदेशपाल राकेश हांसदा ने किराए पर लिया है. मिली जानकारी के अनुसार. असोनी मरांडी (6) और अन्नू सोरेन (8) सड़क पर खेल रही थीं. इसी दरमियान राकेश हांसदा ने दोनों बच्चियों को बिस्कुट-चॉकलेट देकर अपने भाड़े के मकान पर ले गया और अंदर से दरवाजा बंद कर लिया.

इधर, बच्चियां जब काफी देर तक घर नहीं पहुंचीं, तो घरवाले उन्हें ढूंढ़ने लगे. इसी बीच लिट्टीपाड़ा गांव की ही बच्ची ने लापता एक बच्ची की मां को बताया कि उसने दोनों बच्चियों को राकेश हांसदा के साथ जाते देखा है. तब बच्ची की मां ने राकेश हांसदा के मकान पर पहुंची और दरवाजा खोलने को कहा. लेकिन राकेश हांसदा ने दरवाजा नहीं खोला. इस बीच शोर-शराबे को सुनकर गांव के कुछ लोग जुट आए. बच्चियों के लापता होने और राकेश हांसदा के घर में होने की बात सुनकर सबने उसे दरवाजा खोलने को कहा. पर वह किसी भी हाल में दरवाजा खोलने को राजी नहीं हुआ.

यह बात गांव में आग की तरह फैली कि राकेश हांसदा ने दो बच्चियों को अपने घर में कैद कर लिया है और दरवाजा नहीं खोल रहा. इसी बीच इस बात की जानकारी पुलिस को हो गई. वह भी मौके पर पहुंची. पुलिस ने भी राकेश हांसदा से दरवाजा खोलने को कहा. पर जब वह राजी नहीं हुआ तो पुलिस और गांव के लोगों ने मिलकर घर की खिड़की तोड़नी शुरू की. इन स्थितियों के बाद घबराए हुए राकेश हांसदा ने दरवाजा खोला. थाना प्रभारी अभिषेक राय और एएसआई सुरई टापे ने घर में घुस कर दोनों बच्चियों को सही सलामत निकाला और आरोपी राकेश हांसदा को अपनी कस्टडी में ले लिया. हालांकि भीड़ राकेश हांसदा को अपने कब्जे में लेने की कोशिश करती रही, पर पुलिस ने सूझबूझ का परिचय देते हुए आरोपी राकेस हांसदा को बचा ले गई. फिलहा पुलिस उससे सख्ती से पूछताछ कर रही है.

Tags: Jharkhand news, Kidnapping Case, Pakur news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें