Home /News /jharkhand /

होमगार्ड की भर्ती प्रक्रिया : एसपी और डीडीसी के बीच 'लेटरवार'

होमगार्ड की भर्ती प्रक्रिया : एसपी और डीडीसी के बीच 'लेटरवार'

होमगार्ड भर्ती को लेकर उठाए सवालों वाला एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल का पत्र

होमगार्ड भर्ती को लेकर उठाए सवालों वाला एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल का पत्र

पाकुड़ में होमगार्ड बहाली की चयन प्रक्रिया में कई सवाल खड़े हो गए हैं. बहाली प्रक्रिया पर एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने कई सवाल खड़े किए तो भर्ती के मनोनयन अध्यक्ष डीडीसी रामनिवास यादव ने एसपी के पत्र पर ही सवाल खड़ा कर दिया.

अधिक पढ़ें ...
    पाकुड़ में होमगार्ड भर्ती की चयन प्रक्रिया पर कई सवाल खड़े हो गए हैं. भर्ती प्रक्रिया पर एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने कई सवाल खड़े किए तो भर्ती प्रक्रिया के मनोनीत अध्यक्ष सह डीडीसी रामनिवास यादव ने एसपी के पत्र पर ही सवाल खड़ा कर दिया. इतना ही नहीं, एसपी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा की बात कही. फिलहाल लेटरवार ने उम्मीदवारों के सामने एक नया सवाल खड़ा कर दिया है.

    एसपी ने पत्र में लिखा है कि प्रक्रिया प्रथम दृष्टया काफी त्रुटिपुर्ण परिलक्षित हो रही है. चयन प्रक्रिया में अपनाए गए विधि नियम विरुद्ध हैं. इसकी जांच के लिए संयुक्त टीम बनाने की मांग एसपी ने की है. एसपी के पत्र के जवाब में होमगार्ड भर्ती प्रक्रिया के मनोनीत अध्यक्ष सह डीडीसी रामनिवास यादव ने एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल से स्पष्टीकरण मांग लिया है. यादव ने कहा कि बहाली नियमानुसार हुई है और निर्धारित तिथि यानी 14 नवम्बर को सफल उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जाएगी.

    पाकुड़ में होमगार्ड की भर्ती के लिए 378 पद रिक्त थे. इन पर भर्ती के लिए विज्ञापन निकला तो  हजारोंं उम्मीदवारों ने आवेदन डाला. पाकुड़ में छह प्रखंड हैं, तो हर प्रखंड में एक-एक दिन शारीरिक दक्षता परीक्षा ली गई. हिन्दी की लिखित परीक्षा अंत में ली गई. लगभग दस दिनों तक प्रक्रिया चली. एसपी शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल ने सवाल उठाया कि नव नामांकन प्रक्रिया के लिए तैयार किए गए मास्टर चार्ट के सभी स्तंभों को पेंसिल से भरा गया है. मनोनीत अध्यक्ष सहित किसी सदस्य का हस्ताक्षर नहीं है.

    दूसरा सवाल यह रखा कि पेंसिल से इसलिए  भरा गया है कि सुविधा अनुसार सुधार या छेड़छाड़ की जा सके या फिर इसकी पूर्ण संभावना बनी रहे. तीसरा सवाल एसपी का था  कि अनुपस्थित रहे अभ्यार्थी के कॉलम में किसी प्रकार की प्रविष्टि या अनुपस्थित नहीं लिखा गया है. ऐसे में खाली पडे़ कॉलम में कभी भी पेंसिल से स्वेच्छापूर्वक प्रविष्टि की जा सकती है.

    एसपी ने यह सवाल उठाया कि डीसी के द्वारा मनोनीत अध्यक्ष डीडीसी 2-3 दिन विभिन्न कारणों से बहाली के दौरान अनुपस्थित रहे. डीडीसी की अनुपस्थिति में क्या प्र‍क्रिया में पारदर्शिता रखी गई. उन्होंने सवाल उठाया कि चयन प्रक्रिया के दौरान संबंधित मास्टरचार्ट किनके संरक्षण में रखा गया. चयन प्रक्रिया से संबंधित सभी दस्तावेज को कम्पनी कमाण्डर की देखरेख में गृह रक्षक कार्यालय में क्यों रखा गया और चाबी उन्हीं के पास किस परिस्थिति में रखी गई जबकि चयन प्रक्रिया से संबंधित सभी दस्तावेज अध्यक्ष के संरक्षण में होना चाहिए. इन आरोपों के बीच होमगार्ड कमान्डेंट भर्ती प्रक्रिया को बिल्कुल सही बता रहे हैं.

    यह भी पढ़ें - चाईबासा में मुठभेड़ के बाद हथियार छोड़कर भागे नक्सली, सर्च ऑपरेशन जारी

    यह भी पढ़ें - जल्द खुलेगा पाकुड़ का ‘पचवाड़ा नॉर्थ कोल ब्लॉक’, अप्रैल 2015 से है बंद

    Tags: Pakur news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर