अपना शहर चुनें

States

नगर निकाय चुनाव के पास आते ही मतदाताओं को रिझाने में जुटी राजनीतिक पार्टियां

नगर निकाय चुनाव के पास आते ही मतदाताओं को रिझाने में जुटी राजनीतिक पार्टियां
नगर निकाय चुनाव के पास आते ही मतदाताओं को रिझाने में जुटी राजनीतिक पार्टियां

पाकुड़ जिले में नगर निकाय चुनाव के नजदीक आते ही तमाम राजनीतिक पार्टियों ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप के बौछार करने शुरू कर दिए हैं. इस दौरान सभी पार्टियां मतदाता को अपने पक्ष में करने का प्रयास कर रही हैं.

  • Share this:
झारखंड के पाकुड़ जिले में नगर निकाय चुनाव के नजदीक आते ही तमाम राजनीतिक पार्टियों ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप के बौछार करने शुरू कर दिए हैं. इस दौरान सभी पार्टियां मतदाता को अपने पक्ष में करने का प्रयास कर रही हैं. नगर निकाय चुनाव को अपनी झोली में डालने के लिए हर राजनीति पार्टी अपने अपने तुड़प का पत्ता खेलने में जुट गई है.

बीजेपी के प्रदेश स्तर के नेता चुनाव दंगल में कुदकर मतदाता को रिझाने में लगे हैं, तो जेएमएम के विधायक और सांसद मतदाताओं के दरवाजा जाकर खटखटा रहे हैं. वहीं एक-दूसरे पर आरोपों का रॉकेट चला रहे हैं. विपक्षी दल के नेता जेएमएम सांसद विजय हांसदा ने सत्ता पक्ष पर होल्डिंग टैक्स से लेकर बिजली की दर में बढ़ोतरी को मुद्दा बनाया है. वहीं सत्ता पक्ष ने विपक्षियों के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि ये देश लोकतान्त्रिक है इसिलिए सबको बोलने का अधिकार है. वहीं बीजेपी का कहना है कि विपक्षियों का आरोप लगाने का काम है, लेकिन बीजेपी ने जनता हित में काम किया है और जनता ने इसे स्वीकारा है.

होल्डिंग टैक्स से सवालों से परेशान हो अब नगर निकाय चुनाव में जीत दर्ज करने के लिए बीजेपी के अध्यक्ष पद और उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवारों ने होल्डिंग टैक्स को मुद्दा बनाया है. बीजेपी के उम्मीदवारों ने वोटरों को यह कह कर रिझाने का प्रयास किया है कि जीतने के बाद सबसे पहले होल्डिंग टैक्स को कम किया जाएगा. इसके अलावा पानी, बिजली और सड़क समेत शहर का विकास ही उनका अहम मुद्दा है.



बहरहाल, आपको बता दें कि पाकुड़ में अध्यक्ष पद में 7 उम्मीदवार, उपाध्यक्ष पद में 13 और वार्ड पार्षद में कुल 94 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं. 32 हजार मतदाता इनके भाग्य का फैसला करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज