लाइव टीवी

सरकार के सहयोग से पाकुड़ में बढ़ रहा है स्कूल जाने वाली छात्राओं का ग्राफ

Kundan Kumar | News18 Jharkhand
Updated: August 14, 2018, 9:29 AM IST
सरकार के सहयोग से पाकुड़ में बढ़ रहा है स्कूल जाने वाली छात्राओं का ग्राफ
साइकिल के साथ स्कूल आती बालिकाएं

पाकुड़ जिले के हर प्रखंड में एक-एक कस्तुरबा गांधी विद्यालय और कन्या उच्च विद्यालय खोला गया है. इन विद्यालय में 12 हजार से ज्यादा बालिकाएं शिक्षा प्राप्त कर रही है. छात्राओं को तीन करोड़ रुपये की छात्रवृति, 5 करोड़ रुपये की लागत से ड्रेस कोड और करीब 9 करोड़ रुपये स्कूल में बैंच और टेबल के लिए आवंटित किए गए हैं.

  • Share this:
झारखंड में बालिका शिक्षा को लेकर प्रदेश सरकार काफी गंभीर है. पाकुड़ में राज्य सरकार ने बालिका शिक्षा पर जोर दिया है, जिससे जिले में करीब 12 हजार बालिकाएं आज शिक्षा प्राप्त कर रही है. इन बालिकाओं को प्रदेश सरकार की तरफ से करीब 17 करोड़ रुपए का बजट मिला है, जिसमें छात्रवृति, ड्रेस किट, स्कूल किट और अन्य आवश्यक सामग्री राज्य सरकार की तरफ से दी जा रही है. आगामी सालों में यह बजट करीब 52 करोड़ का बजट देने की योजना पर कार्य किया जा रहा है.

सरकार शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नई-नई योजनाएं बना रही है. बालिकाओं को स्कूल आने के लिए राज्य सरकार की तरफ से हर सुविधा दी जा रही है. साइकिल, ड्रेस किट सहित अन्य सुविधाएं भी दी जा रही है. बालिकाओं के लिए दिये जाने वाले पैसे को बिचौलियों से बचाने के लिए सरकार ने ऑनलाइन सिस्टम शुरू किया है, जिससे बालिकाओं के हक का पैसा उनका बैंक खाते में सीधे पहुंचता है.

पाकुड़ जिले के हर प्रखंड में एक-एक कस्तुरबा गांधी विद्यालय और कन्या उच्च विद्यालय खोला गया है. इन विद्यालय में 12 हजार से ज्यादा बालिकाएं शिक्षा प्राप्त कर रही है. छात्राओं को तीन करोड़ रुपये की छात्रवृति, 5 करोड़ रुपये की लागत से ड्रेस कोड और करीब 9 करोड़ रुपये स्कूल में बैंच और टेबल के लिए आवंटित किए गए हैं.

शिक्षा विभाग आने वाले चार सालों में शिक्षा पर खर्च करने के लिए 52 करोड़ रुपए की योजना बना रहा है. जिन बच्चियों की पढ़ाई ड्रॉप हो गई है उन्हें फिर से स्कूल से जोड़ने के लिए गांव के मुखिया, बुद्धिजीवियों और बच्चों को बाल संसद की जिम्मेदारी दी जाएगी. कस्तुरबा विद्यालय और कन्या विद्यालय में बालिकाओं के लिए शौचालय से लेकर पीने के पानी की उच्च व्यवस्था की गई है. साइकिल के साथ स्कूल जाने वाली इन बच्चियों को देखर आने वाले समय में समाज की कल्पना आसानी से की जा सकती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकुड़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 14, 2018, 9:29 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर