अपना शहर चुनें

States

स्वास्थ्य विभाग में तैनात निजी कंपनी के सुरक्षा व सफाईकर्मी हड़ताल पर

धरना देते स्वास्थ्य विभाग में तैनात निजी कंपनी के सुरक्षा व सफाईकर्मी
धरना देते स्वास्थ्य विभाग में तैनात निजी कंपनी के सुरक्षा व सफाईकर्मी

पाकुड़ के स्वास्थ्य विभाग में तैनात निजी सुरक्षा कर्मी और सफाई कर्मी अपने मानदेय के लिए अनिश्चितकालीन धरना दे रहे हैं. कर्मियों की हड़ताल से सदर अस्पताल की सुरक्षा और सफाई की व्यवस्था चरमरा गई हैपाकुड़ स्वास्थ विभाग का फ्रंट लाईन सोल्युशन कंपनी के साथ एग्रीमेन्ट है.

  • Share this:
पाकुड़ के स्वास्थ्य विभाग में तैनात 200 से अधिक निजी सुरक्षा कर्मी और सफाई कर्मी अपने मानदेय के लिए अनिश्चितकालीन धरना दे रहे हैं. कर्मियों की हड़ताल से सदर अस्पताल की सुरक्षा और सफाई की व्यवस्था चरमरा गई हैपाकुड़ स्वास्थ विभाग का फ्रंट लाईन सोल्युशन कंपनी के साथ एग्रीमेन्ट है. आरोप है कि स्वास्थ विभाग फ्रंट लाईन को पेमेन्ट समय पर दे देती है लेकिन फ्रंट लाईन घपला कर सुरक्षा कर्मियों व सफाई कर्मियों को ना केवल निर्धारित से कम मानदेय दे रही है, उनको तीन माह से मानदेय नहीं दिया जा रहा है. इसके अलावा कर्मचारियों को मिलने वाली अन्य सुविधाओं से कंपनी उनको वंचित रखती है.

सदर अस्पताल परिसर में प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों का कहना है कि इन्हीं मांगों कों लेकर इससे पूर्व भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे थे तो तत्कालीन सिविल सर्जन एनके मेहरा ने आकर आश्वासन देकर आंदोलन समाप्त करवा दिया था.कंपनी के सिनियर मैनेजर प्रमोद कुमार ने लिखित दिया था कि सभी को मानदेय इकरारनामा के अनुसार समय पर दिया जाएगा.इकरारनामा के मुताबिक सभी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ.वर्तमान सिविल सर्जन भागवत मरांडी के कार्यकाल में हड़ताल किया गया तो इसी तरह का आश्वासन दकर फिर हड़ताल को समाप्त करवा दिया गया.

कर्मियों ने बताया कि फ्रंट लाईन सोल्युशन कंपनी में आपसी तालमेल बैठाकर सुरक्षा और सफाई कर्मियों के मानेदय से पीएफ सहित अन्य सुविधा को काट लिया जाता है. सुरक्षा कर्मियों को 9,100 और सफाई कर्मियों का 8,701 रुपया मानदेय की जगह क्रमशः 4,750 और 4,450 रुपया दिया जाता है. शेष राशि कंपनी गटक जाती है.कर्मियों ने मांग किया है कि हर महीने का 10 तारीख तक पूरा मानदेय, वेतन वृद्धि, पीएफ की पूरी जानकारी पावती के साथ, बोनस, इकरारनामा के अनुसार मानदेय सभी को दिया जाय तभी अनिश्चितकालीन हड़ताल समाप्त होगी.



यह भी पढ़ें - गोड्डा प्रशासन ने महिलाओं को दिया 'सुरक्षा कवच', प्रताड़ित करने वाले हो जाएं सावधान!
यह भी पढ़ें - जमशेदपुर में हावड़ा की युवती से गैंगरेप, प्रेमी ने मारपीट करके नदी किनारे फेंका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज