अपना शहर चुनें

States

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन से बदलेगी पाकुड़ के दो पंचायतों की तस्वीर

पाकुड़ के दो पंचायतों का श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन में चयन
पाकुड़ के दो पंचायतों का श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन में चयन

पाकुड़ जिले के इलामी और रामचंद्रपुर पंचायत का चयन श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन में हुआ है. इस योजना के तहत दोनों पंचायतों को शहरी क्षेत्र में मिलने वाली स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, सड़क, जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी.

  • Share this:
पाकुड़ के सदर प्रखंड को दो पंचायतों की तस्वीर और तकदीर जल्द बदलने वाली है. इन पंचायतों को हर वो सुविधा मिलने वाली है, जो शहरों में मयस्सर होती है. इतना ही नहीं यहां के ग्रामीणों को सरकार आर्थिक रुप से मजबूत भी करेगी.

पाकुड़ जिले के इलामी और रामचंद्रपुर पंचायत का चयन श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन में हुआ है. इस योजना के तहत दोनों पंचायतों को शहरी क्षेत्र में मिलने वाली स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, सड़क, जैसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. इलामी की आबादी 14 हजार और रामचन्द्रपुर की आबादी लगभग दस हजार है. मिशन को मूर्तरुप देने को लेकर रोडमैप तैयार करने के लिए ग्रामीण विकास विभाग की तीन सदस्यीय टीम इलामी पंचायत पहुंची. टीम ने ग्रामीणों से दोनों गांवों की जरुरत और भौगोलिक बनावट के बारे में जानकारी ली.

टीम में शामिल पदाधिकारियों ने ग्रामीणों को बताया कि रुर्बन मिशन योजना से इलामी और रामचन्द्रपुर पंचायत को थर्ड फेज के कलस्टर से जोड़ा गया है. लोगों को शहर जाने से रोकना और उन्हें गांव में ही रोजगार उपलब्ध कराना, इसका मुख्य उदेश्य है. तीन साल में चयनित गांवों को स्मार्ट गांवों में बदल दिया जाएगा. रोडमैप तैयार होने के बाद योजना को धरातल पर उतारने के लिए पंचायत स्तर से लेकर राज्य स्तर तक सहमति लेनी पड़ेगी. योजना के तहत स्कील डेवलपमेंट, डिजिटल लिटरेसी, ऐग्री सर्विस, पानी की आपूर्ति, शौचालय, कचरा प्रबंधन, नाली, सड़क जैसी सुविधाओं को धरातल पर उतारा जायेगा. इस योजना के थर्ड फेज में संथाल परगना के दो जिले के तीन पंचायतों का चयन हुआ है. पाकुड़ के इलामी, रामचन्द्रपुर के अलावा दुमका जिले के सदर ब्लॉक के बेहराबांक पंचायत को इस अभियान से जोड़ा गया है. इन तीनों पंचायतों को मॉडल पंचायत बनाने की पहल की गई थी. लेकिन कुछ कारणों से पहल नहीं हो पाई थी,  जिसके कारण इस योजना से इन्हें जोड़ा जा रहा है.



रुर्बन मिशन योजना में चयनित कलस्टर में 15 करोड़ तक खर्च करने का लक्ष्य रखा गया है. रुर्बन मिशन का मुख्य फोकस गांव के लोगों को शहर और महानगरों की ओर पलायन करने से रोकना है. गांव में ही लोगों को रोजगार उपलब्ध कराकर उन्हें आर्थिक रुप मजबूत करना है.
 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज