अपना शहर चुनें

States

पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा में अवैध खदान धंसने से दो महिला की मौत

तीन सदस्य टीम ने  घटना स्थल यानि अवैध खदान का निरीक्षण किया
तीन सदस्य टीम ने घटना स्थल यानि अवैध खदान का निरीक्षण किया

पाकुड़ के लिटटीपाड़ा में अवैध खदान धंसने से दो महिला की मौत हो गई. कोयला माफिया और ग्रामीणों को मामले को छुपाने का प्रयास किया लेकिन पदाधिकारियों की हस्तक्षेप के बाद मामले का खुलासा हुआ.

  • Share this:
पाकुड़ के लिट्टीपाड़ा में अवैध खदान धंसने से दो महिला की मौत हो गई. कोयला माफिया और ग्रामीणों को मामले को छुपाने का प्रयास किया लेकिन पदाधिकारियों की हस्तक्षेप के बाद मामले का खुलासा हुआ. पाकुड़ उपायुक्त दिलीप कुमार झा के आदेश पर गठित तीन सदस्य टीम ने घटना स्थल जोगिया घघरी में स्थित अवैध खदान का निरीक्षण किया और मृतकों के परिजनों से मिलकर पूरी घटना की जानकारी प्राप्त की.

दो दिन पहले सिमलोंग ओपी क्षेत्र के जोगिया घघरी में अवैध कोयला निकालने के दौरान चाल धंसने से डमरू गांव के सोहराय हांसदा की पुत्री चुड़की हांसदा व एक अन्य महिला की मौत हो गई. उपायुक्त द्वारा गठित टीम के सदस्य एसडीओ जितेंद्र कुमार देव, एसडीपीओ श्रवण कुमार व सहायक खनन पदाधिकारी सुरेश शर्मा के साथ बीडीओ सत्यवीर रजक, थाना प्रभारी बिमल कुमार सिंह व ओपी प्रभारी विजय चौधरी पुलिस दल के साथ जोगिया घघरी के घटना स्थल का निरीक्षण किया. टीम के सदस्यों में शामिल एसडीओ ने घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद खदान में गिरे मलवे को निकालने के पूर्व डमरू गांव पहुंचकर ग्रामीणों के साथ बैठक की.

एसडीओ ने ग्रामीणों के साथ जितने लोग खदान में काली मिट्टी या कोयला निकालने गए थे, उन्हें भी बैठक में बुलाया. ग्रामीणों ने बताया कि कोयला नहीं, काली मिट्टी निकालने चुड़की हांसदा (15 वर्ष), बिटिमय टुडू (12वर्ष), अनिता सोरेन (18वर्ष), मीरू मुर्मू (30वर्ष), डेटमय मुर्मू (40वर्ष) तथा सुनीता सोरेन ( 35वर्ष) गई थीं. जिसमें चुड़की हांसदा व एक अन्य की मौत घटना स्थल में हो गई जबकि बिटिमय टुडू व अनिता सोरेन को गम्भीर चोट आईं. जिनको इलाज के लिए बाहर ले जाया गया. काली मिट्टी निकालने गए सभी सुरक्षित महिलाओ ने टीम के सदस्यों को बताया कि मलवे में अब कोई दबा नहीं है.



 
 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज