Assembly Banner 2021

दिलफेंक कारोबारी को 10 दिन बाद मिली छेड़खानी की सजा! लोगों ने चेहरा काला कर भेजा घर

आरोपी कारोबारी बस में महिला के बगल वाली सीट पर बैठकर छेड़खानी करता था.

आरोपी कारोबारी बस में महिला के बगल वाली सीट पर बैठकर छेड़खानी करता था.

Palamu News: आरोपी शनिवार रात को पटना जाने के लिए मेदिनीनगर बस स्टैंड पहुंचा था. उसको देखते ही बस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया और हाथ बांधकर चेहरे को मोबिल से काला कर दिया.

  • Share this:

पलामू. झारखंड के पलामू (Palamu) में दिलफेंक कारोबारी को महिला से छेड़खानी करना (Molestation) काफी महंगा पड़ गया. लोगों ने मोबिल से आरोपी का चेहरा काला कर दिया. घटना मेदिनीनगर बस स्टैंड की है. आरोपी जूता-चप्पल का कारोबारी है. जानकारी के मुताबिक 10 दिन पहले उसने बस में एक महिला के साथ छेड़खानी की थी. इसकी शिकायत महिला ने बस स्टाफ से की थी. तब से बस के स्टाफ कारोबारी का इंतजार कर रहे थे.


आरोपी शनिवार रात को पटना जाने के लिए मेदिनीनगर बस स्टैंड पहुंचा था. उसको देखते ही बस कर्मियों ने पकड़ लिया और हाथ बांधकर चेहरे को मोबिल से काला कर दिया. इसके बाद उसे छोड़ दिया. इस दौरान कारोबारी काफी रोया-गिड़गिड़ाया, लेकिन बस के कर्मचारियों ने उसे अपने अंदाज में ही 'सजा' दे दी.


आरोपी कारोबारी राजू मेदिनीनगर से पटना आता-जाता रहता है. बस कर्मियों ने बताया कि आए दिन वह महिला यात्रियों से छेड़खानी करता रहता है. 10 दिन पहले भी एक महिला यात्री ने छेड़खानी की शिकायत बस कर्मियों से की थी. आरोपी उस दौरान पटना जा रहा था. और बगल की सीट पर बैठी महिला के साथ उसने छेड़खानी की थी.


इस घटना के बाद बस कर्मी आरोपी राजू के बस स्टैंड आने का इंतजार कर रहे थे. बस कर्मियों के मुताबिक राजू सबसे अंत में बस में सवार होता है और महिला यात्री के बगल में खाली सीट देखकर सफर करता था. हालांकि पीड़ित महिला ने छेड़खानी की शिकायत थाने में नहीं दर्ज कराई थी. सिर्फ बस कर्मियों से नाराजगी जताकर चली गई थी. महिला ने आगे से उस बस में सफर नहीं करने की भी बात कही थी. इस बात से बस के स्टाफ आरोपी पर गुस्से में थे. आखिरकर 10 दिन बाद बस कर्मियों को अपना गुस्सा निकालने का मौका मिल गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज