पंचायत ने बेटी को चरित्रहीन बताकर लगाया अर्थ दंड, तो किसान ने कर ली खुदकुशी
Palamu News in Hindi

पंचायत ने बेटी को चरित्रहीन बताकर लगाया अर्थ दंड, तो किसान ने कर ली खुदकुशी
पलामू में पंचायत के तुगलकी फरमान से परेशान किसान ने कर ली खुदकुशी

18 अगस्त को गांव के लोगों ने पंचायत बिठाकर किसान की नाबालिग बेटी को चरित्रहीन बताया. और किसान पर सात हजार का आर्थिक दंड लगाया. किसान ने कर्ज लेकर पंचायत को यह दंड चुका भी दिया. लेकिन दूसरे दिन उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली.

  • Share this:
पलामू में पंचायत (Panchayat) के तुगलकी फरमान के चलते एक किसान (Farmer) ने आत्महत्या (Suicide) कर ली. मामला रामगढ़ प्रखंड के ओल्डडा गांव का है. बीते 18 अगस्त को गांव के लोगों ने पंचायत बिठाकर किसान की नाबालिग बेटी को चरित्रहीन बताया. और किसान पर सात हजार का आर्थिक दंड (Penalty) लगाया. किसान ने कर्ज लेकर पंचायत को यह दंड चुका भी दिया. लेकिन पंचायत के फरमान से वह परेशान था. दूसरे दिन उसने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. 19 अगस्त को उसकी लाश गांव के पास एक पेड़ से लटकी मिली. इस मामले में मृतक किसान की पत्नी ने पंचायत में शामिल लोगों पर केस दर्ज कराया है. गुरुवार को डीएसपी सुरजीत कुमार ने गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार से घटना की जानकारी ली.

सात लोगों पर केस दर्ज 

डीएसपी सुरजीत कुमार ने कहा कि इस मामले में सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. पंचायत में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी पुलिस जानकारी जुटा रही है. मामले की छानबीन जारी है.



मृतक किसान की पत्नी ने कहा कि पंचायत में उसकी नाबालिग बेटी पर झूठा इल्जाम लगाया गया. और उनके परिवार पर सात हजार का आर्थिक दंड लगाया गया. इससे परेशान होकर ही कुलदीप प्रजापति ने खुदकुशी कर ली.
पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे प्रजापति समाज के नेता अविनाश देव ने कहा कि पंचायत का निर्णय पूरी तरह से गलत था. समाज के लोगों को इस घटना से सीख लेने की जरूरत है. घटना के दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए.

प्रेम-प्रसंग में बेटी हो गई थी गर्भवती 

जानकारी के मुताबिक मृतक किसान की बेटी का दूसरे जाति के युवक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था. उसमें उसकी बेटी गर्भवती हो गयी थी. प्रेमी ने उसका गर्भपात करा दिया था. गांववालों को जब इसकी जानकारी मिली तो पंचायत बुलाई गयी. उसमें प्रेमी ने गर्भपात की बात स्वीकार किया, लेकिन लड़की से शादी करने से इंकार कर दिया. इसके बाद पंचायत ने लड़की को चरित्रहीन बताते हुए किसान पर आर्थिक दंड लगाया था.

रिपोर्ट- नीलकमल

ये भी पढ़ें- प्रेम-प्रंसग में युवती की हुई थी हत्या, पुलिस ने 4 महीने बाद जमीन खोदकर निकाला कंकाल

NIA के अफसरों पर लगा मजिस्ट्रेट से सादे कागज पर साइन कराने का आरोप

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading