लाइव टीवी

फाइलों को निबटा रहे थे डीसी, पकड़ा 12 करोड़ 60 लाख की अवैध निकासी का मामला

News18 Jharkhand
Updated: October 30, 2019, 1:15 PM IST
फाइलों को निबटा रहे थे डीसी, पकड़ा 12 करोड़ 60 लाख की अवैध निकासी का मामला
करोड़ों की अवैध निकासी के मामले में डीसी शान्तनु अग्रहरि के आदेश पर 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

डीसी डॉ. शान्तनु अग्रहरि (Dr. Shantanu Agrahari) ने कहा कि करीब 13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी (Illegal Clearance) का मामला सामने आया है. एक आरोपी को गिरफ्तार (Arrest) किया गया है. बाकी बचे आरोपियों के खिलाफ जांच जारी है. उनकी भी जल्द गिरफ्तारी होगी.

  • Share this:
पलामू. भू-अर्जन कार्यालय के खाते से 12 करोड़ 60 लाख रुपये की अवैध निकासी (Illegal Clearance) का मामला सामने आया है. इसका खुलासा तब हुआ जब डीसी डॉ. शान्तनु अग्रहरि (Dr. Shantanu Agrahari) फाइलों का निबटारा कर रहे थे. डीसी के मुताबिक उत्तरी कोयल परियोजना के एसबीआई अकाउंट 11112105417 से इन पैसों की अवैध निकासी की गई. इस सिलसिले में डीसी के आदेश पर पांच लोगों के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराई गई है. आरोपियों में तत्कालीन भू-अर्जन पदाधिकारी बंका राम, नाजिर रामशंकर सिंह, एसबीआई मुख्य शाखा, मेदिनीनगर के पूर्व मैनेजर रवींद्र कुमार बड़ाईक, ठेकेदार अमित चंदूलाल पटेल और शीतल कंस्ट्रक्शन के नाम शामिल हैं. इनमें रामशंकर सिंह को गिरफ्तार (Arrest) कर जेल भेज दिया गया है.

डीसी डॉ. शान्तनु अग्रहरि ने कहा कि करीब 13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी का मामला सामने आया है. एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. बाकी बचे आरोपियों के खिलाफ जांच जारी है. उनकी भी जल्द गिरफ्तारी होगी.

इस सिलसिले में मेदिनीनगर शहर थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गई है. उपायुक्त डॉ. शांतनु कुमार अग्रहरि ने फाइल निबटारे के वक्त इस अनियमितता को पकड़ा. इसके बाद उन्होंने त्वरित कार्रवाई करते ही भू-अर्जन कार्यालय के नाजिर रामशंकर सिंह को अपने कक्ष में बुलाया और पुलिस के हवाले कर दिया. उपायुक्त के निर्देश पर विशेष भू-अर्जन पदाधिकारी निशा तिर्की ने वर्तमान नाजिर रमाशंकर सिंह उर्फ रविशंकर, तत्कालीन विशेष भू-अर्जन पदाधिकारी बंका राम, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की कचहरी शाखा के पूर्व मैनेजर रवींद्र कुमार बड़ाईक, शीतल कंस्ट्रक्शन और चंदूलाल पटेल समेत कुल पांच लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई है.

बता दें कि 2018 में विशेष भू-अर्जन विभाग के खाते से चेक के जरिये एक ही दिन में 12 करोड़ 60 लाख रुपये के दो बड़े ट्रांजेक्शन किये गये. इसमें शीतल कंस्ट्रक्शन के नाम से 4 करोड़ 20 लाख और चंदूलाल पटेल के नाम से 8 करोड़ 40 लाख रुपये की निकासी की गई. ऐसी आशंका है कि इस खेल में  बैंक अधिकारियों का भी साथ मिला.

(इनपुट- नीलकमल)

ये भी पढ़ें- थानाप्रभारी के रवैये से नाराज बीजेपी नेताओं ने देर रात थाने में दिया धरना

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पलामू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 1:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...