लाइव टीवी

कांग्रेस के लिए वोटबैंक, हमारे लिए अन्नदाता हैं किसानः पीएम मोदी

News18 Jharkhand
Updated: January 5, 2019, 1:50 PM IST
कांग्रेस के लिए वोटबैंक, हमारे लिए अन्नदाता हैं किसानः पीएम मोदी
पीएम मोदी (फाइल फोटो)

पीएम ने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या ये किसानों के साथ आपराधिक लापरवाही नहीं है. आधी सदी तक परियोजना खंडहर के रूप में पड़ी रही और अब 30 करोड़ की बजाय इस पर 24 सौ करोड़ की लागत आएगी.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को झारखंड दौरे पर थे. यहां उन्होंने मेदिनीनगर के चियांकी हवाई अड्डा मैदान में उत्तर कोयल (मंडल डैम) परियोजना समेत छह परियोजनाओं की आधारशिला रखी. साथ ही 25 हजार लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास दिए.

यूपीए सरकार पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा कि किसानों की योजनाओं को लेकर पहले की सरकार के रवैये का सबूत मंडल डैम योजना है. 1972 से इसकी फाइल अटकती, फटकती और भटकती रही. लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया.

पीएम ने सवाल किया कि क्या ये किसानों के साथ आपराधिक लापरवाही नहीं है. आधी सदी तक परियोजना खंडहर के रूप में पड़ी रही और अब 30 करोड़ की बजाय इस पर 24 सौ करोड़ की लागत आएगी. पीएम के मुताबिक, ये इस बात की भी गवाही है कि कैसे बिहार- झारखंड के साथ नाइंसाफी हुई.

पीएम ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके लिए किसान वोट बैंक हैं, जबकि हमारे लिए अन्नदाता. कांग्रेस कर्जमाफी के नाम पर किसानों को बहला रही है और झूठ बोल रही है. पीएम ने कहा कि अगर योजनाएं समय पर पूरी होतीं, तो किसानों को कर्ज लेने की जरूरत नहीं पड़ती. पहले कर्ज लेने के लिए मजबूर किया और अब राजनीति कर रहे हैं. बतौर पीएम किसान कभी कर्जदार ना बने हमने इसके लिए काम किया है.

पीएम ने मंडल डैम परियोजना को लेकर नीतीश कुमार और रघुवर दास को बधाई देते हुए कहा कि पानी के लिए आज कई राज्यों में लड़ाइयां लड़ी जा रही हैं. जबकि पानी समुद्र में बह रहा है. ऐेसे में देश हित की सोच सबसे जरूरी है. किसानों की पुरानी योजनाओं पर हम एक लाख करोड़ खर्च कर रहे हैं.

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम ने कहा कि पहले की आवाज योजना में घर से ज्यादा नाम की चिंता होती थी. कागज पर घर बन जाते थे, लेकिन जमीन पर मिलते नहीं थे. जबकि हमने पीएम आवास योजना में दलाली को खत्म किया. पिछली सरकार ने पांच साल में 25 लाख घर बनवाये, जबकि हमने चार साल में एक करोड़ 25 लाख घर बनवाये.

इन योजनाओं का हुआ शिलान्यास सोन नहर पाइप लाइन सिंचाई योजना- लागत 1169.28 करोड़

उत्तर कोयल (मंडल डैम) परियोजना- लागत 2391.36 करोड़

बतेर वीयर योजना का पुनरुद्धार व लाइनिंग कार्य- लागत 17.47 करोड़

बायीं बांकी जलाशय योजना का पुनरुद्धार व लाइनिंग कार्य- लागत 24.80 करोड़

अंजनवा जलाशय योजना का पुनरुद्धार व लाइनिंग कार्य- लागत 67.53 करोड़

ब्राह्मणी सिंचाई योजना का पुनरुद्धार व लाइनिंग कार्य- लागत 11.62 करोड़

इन सभी योजनाओं की कुल लागत 25,202 करोड़ रुपये से अधिक है. मंडल डैम योजना से पलामू, गढ़वा, गया और औरंगाबाद जिलों को लाभ मिलेगा.

ये भी पढ़ें- शनिवार को झारखंड आएंगे पीएम मोदी, पलामू के लोगों को देंगे ये बड़ी सौगात

मंडल डैम से झारखंड में होगी कृषि क्रांति! इतने हेक्टेयर खेत में लहलहाएंगे फसल

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पलामू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 5, 2019, 12:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर