झारखंड: पुलिस ने चोरी के आरोपियों को पहले जमकर पीटा, फिर गुप्तांग में दौड़ाई करंट

गांववालों ने डालटनगंज मुख्यमार्ग को जामकर पुलिस के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया
गांववालों ने डालटनगंज मुख्यमार्ग को जामकर पुलिस के खिलाफ उग्र प्रदर्शन किया

दो आरोपियों में से एक रजनीकांत दुबे की हालत नाजुक है. उसे उसी हालत में खाट पर लिटाकर गांववालों ने सड़क जामकर पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन (Protest) किया. और दोषी पुलिसवालों पर कार्रवाई की मांग की.

  • Share this:
रिपोर्ट- नीलकमल मेहरा 

पलामू. झारखंड के पलामू में पुलिस (Police) का बेरहम चेहरा सामने आया है. पुलिस ने चोरी के दो आरोपी को थाने बुलाकर पहले जमकर पिटाई की, फिर थर्ड डिग्री देने के नाम पर उनके गुप्तांगों में करंट दौड़ाया. आरोपियों (Accused) की हालत गंभीर बनी हुई है. पूरा मामला चैनपुर थाने का है.

जानकारी के मुताबिक बेड़मा भभंडी गांव निवासी रजनीकांत दुबे और विकास पासवान को दो दिन पहले पुलिस चोरी के आरोप में चैनपुर थाना बुलाई. दोनों को पूछताछ के लिए थाना बुलाया गया था. लेकिन आरोपियों के पहुंचते ही थानाप्रभारी सुनित कुमार एवं अन्य पुलिसकर्मियों ने आरोपियों की बेरहमी से पिटाई कर दी.



पीड़ित रजनीकांत दुबे की माने तो पिटाई के बाद पुलिसवालों ने उनलोगों के गुप्तांग में करंट दौड़ाया. और गंदी-गंदी गालियां भी दीं.
पुलिस के खिलाफ सड़क पर उतरे ग्रामीण

रजनीकांत दुबे की हालत नाजुक है. उसे उसी हालत में खाट पर लिटाकर गांववालों ने सड़क जाम किया. और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग की.

ग्रामीणों का आरोप है कि चैनपुर थाना पुलिस ने दबंगई दिखाते हुए पहले दोनों व्यक्तियों को पीटा, फिर गुप्तांग में करंट दौड़ाया. जब एक शख्स की हालत नाजुक हो गई, तो दोनों का गांव लाकर छोड़ दिया.

प्रदर्शनस्थल पर पहुंचकर डीएसपी संदीप गुप्ता ने ग्रामीणों को समझाया और जाम हटवाया. डीएसपी ने कहा कि ग्रामीणों के आरोप पर एसपी के निर्देश पर मामले की जांच की जा रही है.

वहीं परिजनों का कहना है कि अगर चोरी का आरोप था तो पुलिस द्वारा जेल भेजा जाना चाहिए. पर पूछताछ के नाम पर पुलिस ने थाने बुलाकार करंट देकर टॉर्चर किया. दोषी पुलिसवालों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज